LOAN ब्याज के बदले महिलाओं से संबंध बनाता था: पत्नी ने करा दी हत्या

Thursday, April 13, 2017

बेंगलुरु। सूदखोद जी. कुमार की हत्या का मामले का खुलासा हो गया है। पुलिस ने उसकी पत्नी समेत 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। बताया गया है कि जी. कुमार महिलाओं को कर्ज दिया करता था। यदि वो समय पर ब्याज अदा नहीं कर पातीं थीं तो उन्हे शारीरिक संबंध बनाने के लिए मजबूर करता था। इसकी जानकारी जब उसकी पत्नी को मिली तो उसने जी. कुमार को रोकना चाहा परंतु जब वो नहीं माना तो सुपारी किलर्स को बुलाकर उसकी हत्या करवा दी। 

पुलिस ने जी. कुमार की हत्या के आरोप में उसकी 48 वर्षीय पत्नी डोरीन कुमार समेत 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि डोरीन को जब पता चला कि वह कर्ज न चुका पाने वाली महिलाओं को अपने साथ सेक्स के लिए मजबूर करता था तो उसने अपने पति की हत्या की साजिश रची। वह चार आरोपियों को 30 लाख रुपये देने के लिए राजी हो गई।

ईस्ट डिविजन पुलिस ने डोरीन के अलावा पैट्रिक पी. (25), एस. प्रभु (35), एस. दिनेश (29) और एस. अविनाश (30) को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि 54 साल का कुमार अपने घर के आस-पास के लोगों को ब्याज पर कर्ज देता था। वह महिलाओं को भी ब्याज पर कर्ज देता था। अगर कोई महिला कर्ज चुका पाने या ब्याज अदा कर पाने में नाकाम होती थी तो कुमार उसके सामने घिनौनी शर्त रखता था। वह उन महिलाओं से कहता था कि अगर वे उसके साथ सेक्स कर लें तो उनका ब्याज माफ कर देगा। कथित तौर पर उसके कुछ महिलाओं के साथ नाजायज संबंध थे जिसके बारे में उसकी पत्नी को पता था। डोरीन ने उसे अपने व्यवहार को बदलने की सलाह भी दी लेकिन जब उसने कोई ध्यान नहीं दिया पत्नी ने ही हत्या करा दी।

एक पुलिस अफसर ने बताया, 'कुमार ने एक श्रीधर नाम के शख्स को 5 लाख का कर्ज दिया था। जब डोरीन और श्रीधर की जान-पहचान हुई तो वह उससे अपने पति और उसके संबंधों के बारे में चर्चा की। उसने उससे कुमार की हत्या में मदद मांगी। इतना ही नहीं वह उसका कर्ज माफ करने पर भी राजी हो गई और 30 लाख रुपये की सुपारी देने का फैसला किया। उसने 2 लाख रुपये पेशगी के तौर पर दे भी दिया।'

इसके बाद श्रीधर ने प्रभु से संपर्क किया जो एक पेशेवर अपराधी था। प्रभु ने इस काम में दिनेश, अविनाश और पैट्रिक की मदद मांगी। गैंग ने क्लारा और रेवाती नाम की दो महिलाओं से संपर्क किया जो कुमार की करीबी थीं। दोनों महिलाओं की मदद ने गैंग ने कुमार को कब्रिस्तान के पास बुलाया। जब कुमार और उसके दोस्त वहां पहुंचे तो गैंग ने कुमार की हत्या कर दी जबकि उसका दोस्त किसी तरह भागने में कामयाब रहा। एक पुलिस सूत्र ने बताया कि अगर हत्या की साजिश में क्लारा और रेवाती की भूमिका के बारे में सबूत मिले तो उन दोनों के खिलाफ भी केस दर्ज होगा।

4 पुरुष आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ ही पुलिस ने चोरी के 5 केसों का भी पर्दाफाश किया। दिनेश ने एक इवेंट मैनेजमेंट कंपनी चलाने वाली महिला के यहां से कैश और करीब 19 लाख रुपये के कीमती सामान चुराए थे।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week