महाशिवरात्रि: पढ़िए महाकाल के दर्शन हेतु क्या प्रबंध रहेंगे | UJJAIN MAHAKAL MAHASHIVRATRI

Monday, February 12, 2018

राजेश वर्मा/उज्जैन। एकमात्र दक्षिणमुखी ज्योतिर्लिंग राजाधिराज भगवान महाकालेश्वर की नगरी महाशिवरात्रि के लिए दुल्हन की तरह सज गई है। अब भक्तों को इंतजार है उस पल का जब राजा के शीश सवा मन फूलों और फलों से सेहरा सजाया जाएगा। मंदिर प्रशासन का अनुमान है कि इस बार करीब 2 लाख भक्त शिवरात्रि पर भगवान महाकाल के दर्शन के लिए आएंगे। अफसरों का दावा है कि सामान्य दर्शनार्थी को 90 मिनट में भगवान के दर्शन हो जाएंगे। इस दौरान आम या खास किसी को भी गर्भगृह में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। गौरतलब है कि गत वर्ष भक्तों को 2.30 घंटे का समय लगा था। 

गर्भगृह में किसी को प्रवेश नहीं
महाशिवरात्रि पर मान्य प्रोटोकाल के अलावा किसी को भी गर्भगृह में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। आम और खास सभी नंदी हॉल के पीछे बेरिकेड्स से भगवान महाकाल के दर्शन करेंगे।

गर्भवती व दिव्यांगों को विशेष प्रवेश
दिव्यांग, वृद्ध के अलावा मंदिर समिति ने गर्भवती महिलाओं के लिए भस्मारती द्वार से प्रवेश की व्यवस्था की है। यहां महिला बाल विकास की टीम मौजूद रहेगी। गर्भवती महिलओं के साथ एक व्यक्ति को अटेंडर के रूप में प्रवेश मिलेगा।

नो व्हीकल जोन में चलेंगे ई रिक्शा
महाशिवरात्रि पर मंदिर के आसपास के एरिया को नो व्हीकल जोन घोषित किया गया है। प्रशासन ने दिव्यांग, वृद्ध तथा नि:शक्त लोगों की सुविधा के लिए प्रवेश द्वार तक पहुंचने के लिए नि:शुल्क ई रिक्शा चलाएगा।

वन विभाग की टीम तैनात रहेगी
महापर्व पर मंदिर में वन विभाग की रेस्क्यू टीम तैनात रहेगी। आवश्यकता पड़ने पर तुरंत हरकत में आएगी। गौरतलब है कि मंदिर के आसपास भीड़ वाले क्षेत्र में कुछ भगवावेषधारी हाथी लेकर घूमते हैं। इसे देखते हुए टीम की तैनाती की गई है।

7 स्थानों पर चिकित्सा सुविधा, एंबुलेंस भी मौजूद रहेगी
मंदिर परिसर, प्रवचन हॉल, कंट्रोल रूम, पुलिस चौकी, रूद्रसागर के पीछे, चारधाम मंदिर की पार्किंग तथा हरसिद्धि मंदिर के सामने मेडिकल कैंप रहेंगे। यहां दर्शनार्थियों को चिकित्सा सुविधा मिलेगी।डॉ.देवेंद्र परमार ने बताया आपात स्थिति में रोगी को सिविल हॉस्पिटल पहुंचाने के लिए शंखद्वार, हरसिद्धि चौराहा तथा माधवसेवा न्यास के सामने मंदिर की एंबुलेंस मौजूद रहेगी। प्रशासन ने जिला चिकित्सालय की आईसीयू सुविधा से लेस दो एंबुलेंस को मंदिर परिक्षेत्र में तैनात रखने की व्यवस्था भी की है।

श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए बनाए 6 सहायक कंट्रोल रूम
श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए नगर निगम ने पूछताछ और सहायता केंद्र के रूप में 6 सहायक कंट्रोल रूम बनाए हैं। स्थान भारत माता मंदिर के पीछे, चारधाम मंदिर, हरसिद्धि मंदिर की पाल, नृसिंह घाट, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड के पास निर्धारित किया है, जहां मंदिर पहुंच मार्ग सहित सार्वजनिक शौचालय, अस्पताल, ट्रांसपोर्टेशन, वाहन पार्किंग आदि की जानकारी मुहैया कराई जाएगी। निगम के उपायुक्त मनोज पाठक ने बताया कंट्रोल रूम में मेडिकल सुविधा भी उपलब्ध रहेगी। निगम, रेवेन्यू और अस्पताल के कर्मचारी यहां 8-8 घंटे की शिफ्ट में ड्यूटी करेंगे।

इन स्थानों पर पार्क करें वाहन
हरिफाटक ब्रिज से आने वाले वाहनों की पार्किंग चारधाम मंदिर के सामने होगी। मुल्लापुरा व शंकराचार्य चौराहा की ओर से आने वाले दर्शनार्थी कार्तिक मेला ग्राउंड व झालरिया मठ के सामने वाहन रख सकेंगे। कार्तिक चौक व ढाबा रोड की ओर से आने वाले वाहन की पार्किंग व्यवस्था हरसिद्धि की पाल पर की गई है। वीआईपी वाहन त्रिवेणी संग्रहालय के सामने से माधवसेवा न्यास के पिछले हिस्से में बनी पार्किंग में पार्क होंगे।

यहां से खरीदें 250 रुपए के शीघ्र दर्शन टिकट
महाशिवरात्रि पर भगवान महाकाल के शीघ्र दर्शन करने के लिए श्रद्धालु 250 रुपए के दर्शन टिकट खरीदकर शंखद्वार से मंदिर में प्रवेश कर सकेंगे। मंदिर प्रशासन ने चारधाम मंदिर के सामने, हरसिद्धि चौराहा, महाराजवाड़ा स्कूल, विक्रम टीला, महाकाल धर्मशाला के पीछे, माधवसेवा न्यास पर काउंटर लगाए हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week