सबसे रईस कैंडिडेट से गुस्साए रूपाणी राहुल गांधी पर बरस पड़े | ‪‪Vijay Rupani‬ ‪Gujarat‬ ‪Elections

Monday, November 27, 2017

अहमदाबाद। गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने ने सीएम विजय रूपाणी के खिलाफ सबसे रईस कैंडिडेट उतारा है। राजकोट पश्चिमी सीट से कांग्रेस ने इंद्रनील राजगुरू को टिकट दिया है। राजगुरू ने अपने चुनावी हलफनामे में कुल 141 करोड़ रुपये की संपत्ति का खुलासा किया है जबकि सीएम रुपाणी ने 7.4 करोड़ रुपये की संपत्ति का विवरण सौंपा है। अब इंद्रनील सभाओं में बयान दे रहे हैं कि मैं अपनी निजी संपत्ति से गरीबों की मदद करूंगा। गुस्साए रूपाणी राहुल गांधी पर बरस पड़े। उन्होंने राहुल को 'गप्पीदास' कहा है। बता दें कि चुनाव आयोग ने एक शब्द विशेष पर पाबंदी लगा दी है। 

कांग्रेस कैंडिडेट ने इंद्रनील राजगुरू का कहना है कि सीएम रुपाणी की सिर्फ एक खासियत है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने उन्हें चुना है, जो 13 सालों तक गुजरात पर शासन कर चुके हैं। बता दें कि इंद्रनील राजगुरू राजकोट पूर्वी सीट से विधायक हैं मगर उस सीट को छोड़कर राजकोट पश्चिमी सीट पर मुख्यमंत्री के खिलाफ ताल ठोकने उतरे हैं। राजगुरू को स्थानीय लोग धनकुबेर नाम से भी पुकारते हैं।

बीजेपी में गढ़ में कांटे की टक्कर

राजकोट पश्चिमी सीट पिछले चार दशक से बीजेपी का गढ़ माना जाता रहा है मगर इस बार के चुनाव में वहां बीजेपी के लिए मुकाबला कांटे का लग रहा है। यह सौराष्ट्र क्षेत्र का सबसे बड़ा विधान सभा क्षेत्र है, जहां करीब 3.15 लाख मतदाता हैं। इनमें से करीब एक चौथाई यानी 75,000 के करीब पाटीदार वोटर हैं जो पहले के मुकाबले इस बार कांग्रेस को समर्थन देने के मूड में हैं। पाटीदार समाज लंबे समय से शिक्षा और नौकरियों में आरक्षण देने की मांग करता रहा है। पाटीदारों को बीजेपी का परंपरागत मतदाता समझा जाता था लेकिन इस बार के चुनाव में यह परंपरागत वोट बैंक बीजेपी से छिटक चुका है।

राहुल गांधी को ‘गप्पीदास’ बताया

इधर चुनाव प्रचार के दौरान सीएम विजय रूपाणी ने गुजरात में धुआंधार चुनाव प्रचार कर रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को ‘गप्पीदास’ बताया और उन पर भाजपा शासित प्रदेश के बारे में मनगढ़ंत आंकड़े पेश करने के आरोप लगाया। भाजपा नेता ने कहा, ‘जो मुझे समझ आया है उस आधार पर मैं यह कह सकता हूं कि इसका (कांग्रेस-हार्दिक गठबंधन का) (भाजपा पर) कोई असर नहीं होगा क्योंकि इनका असली चेहरा सामने आ चुका है। उन्होंने आरक्षण की मूल मांग को एक तरफ रख दिया है और आंदोलनकारी कांग्रेस का टिकट पाने के लिए लाइन में लगे हैं।’ वह गुजरात चुनाव में पटेल के कांग्रेस को समर्थन देने से पड़ने वाले असर के बारे में पूछे गए प्रश्न का उत्तर दे रहे थे।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं