कमल हासन ने RSS को हिंसक बताया, RSS ने कहा: माफी मांगो

Thursday, November 2, 2017

नई दिल्ली। फिल्मों से राजनीति में अपनी जमीन तलाश रहे एक्टर कमल हासन ने विवादित बयान जारी किया है। उन्होंने भाजपा एवं आरएसएस की विचारधारा से जुड़े लोगों को हिंसक बताया है। हासन ने कहा कि पहले ये लोग तर्क और शास्त्रार्थ किया करते थे परंतु अब हिंसक होते जा रहे हैं। आरएसएस ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया दर्ज कराई है। संघ ने हासन से माफी मांगने को कहा है। बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा है कि हासन की फिल्में फ्लॉप हो गईं इसलिए वो इस तरह के बयान देकर सुर्खियां बटोर रहे हैं। 

क्या कहा कमल हासन ने 
दक्षिणपंथी राजनीति करने वालों पर सीधा निशाना साधते हुए कमल हासन ने कहा कि पहले दक्षिणपंथी हिंदू लोग हिंसा में शामिल नहीं होते थे, वे अपने विरोधियों का तर्कों के आधार पर विरोध करते हुए शास्त्रार्थ करते थे लेकिन, ये पुरानी रणनीति हार गई और अब वे जो करते हैं, उसमें बल प्रयोग होता है। अब उन्होंने हिंसा फैलाना शुरू कर दिया है।

हिंसा अब उनके कैंप में भी पहुंच गई है 
कमल हासन ने कहा, हिंदू आतंकवाद की बात कहने वाले लोगों को दक्षिणपंथी चैंलेज नहीं कर सकते हैं, क्योंकि आतंक हिंदू कैंप में भी पहुंच गया है। इस तरह की आतंकी गतिविधियां उन्हें किसी तरह की मदद नहीं करने वाली।

चापलूस आदमी है कमल हासन
कमल के बयान पर पलटवार करते हुए बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा, 'कमल हासन ईमानदार व्यक्ति नहीं हैं और न ही निष्पक्ष हैं। अगर होते एनआईए को जाकर बताते या कम्प्लेन रजिस्टर करते, जो उन्होंने नहीं किया। स्वामी ने कहा कि वो चापलूस आदमी हैं। जयललिता के खिलाफ जब हम भ्रष्टाचार के केस चला रहे थे तब वो चूहे की तरह बिल में दुबक कर बैठ गए थे, आज तक उन्होंने किसी भी सार्वजनिक आंदोलन हिस्सा नहीं लिया।

फिल्में फ्लॉप हो गईं तो राजनीति में आ रहे हैं 
उन्होंने कहा कि उसकी तीन फिल्में फ्लाप हो चुकी हैं इसलिए अब सिनेमा से रिटायरमेंट चाहता है। इसलिए इस तरह के स्टेटमेंट दे रहा हैं। उसका कुछ होने वाला नहीं है, इसलिए कम्युनिस्टों की चापलूसी कर रहा है लेनिन ने कहा था कि कई इडियट भी यूजफूल होते हैं। स्वामी ने कहा कि वो आधारहीन आरोप लगा रहे हैं, उनके पास कोई सबूत नहीं है।

कमल हासन को माफी मांगनी चाहिए: RSS
संघ विचारक राकेश सिन्हा ने कहा कि कमल हासन तमिलनाडु में पीएफआई और अल उम्मा के प्रभाव में आकर हिंदू आतंक की बात कर रहे हैं। हिंदू सभ्यता के अपमान और भावनाओं को आहत करने के लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए। कमल हासन की कोशिश भावनाएं भड़काने की है। उन्होंने कहा कि समय बहुत महत्वपूर्ण है, जब केंद्रीय एजेंसियों ने पीएफआई पर बैन लगाने की बात कही, तो कमल हासन ने हिंदू आतंक की बात कहकर उसे बचाने की कोशिश कर रहे हैं।

फैंस को 7 नवंबर का इंतजार
हासन का बयान उस समय आया है जब उनके चाहने वाले और सभी बड़ी पार्टियों के नेता 7 नवंबर को उनके जन्मदिन के मौके पर होने वाली बड़ी घोषणा का इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा, 'सत्य अकेले विजयी हो सकता है का बोध अब ताकत अकेले जीत सकती है बन गया है। इसने लोगों को अमानवीय बना दिया है।

सितंबर में कमल हासन ने केरल के मुख्यमंत्री और सीनियर सीपीआई (एम) लीडर पिनराई विजयन से मुलाकात की थी। हासन ने कहा था, तमिलनाडु एक बार फिर सामाजिक न्याय का उदाहरण बनेगा, वर्तमान में केरल ने राह दिखाई है, बधाई।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week