स्वाइन फ्लू पर स्वास्थ्य मंत्री बोले: मौत तो भगवान के हाथ में है

Wednesday, August 30, 2017

भोपाल। लगता है भाजपा के दिग्गजों में एक प्रतियोगिता चल रही है। कौन कितने बेतुके और विवादित बयान देता है। अभी पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर रामपाल सिंह के बेतुके बयान का मामला ठीक से सुर्खियों में भी नहीं आ पाया था कि स्वास्थ्य राज्यमंत्री शरद जैन का बेतुका बयान सामने आ गया। स्वाइन फ्लू के मामले में उनका कहना है कि मौत को भगवान के हाथ में है। बता दें कि मध्यप्रदेश में अब तक 101 मामले सामने आ चुके हैं जिनमें से 16 मौतें हो चुकीं हैं। यह आंकड़ा केवल सरकारी अस्पतालों का है। इसके अलावा पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर रामपाल सिंह ने बयान दिया है कि हम मध्यप्रदेश की खराब हो रहीं सड़कों को इसलिए नहीं बनवा रहे, ताकि लोगों को दिग्विजय सिंह शासनकाल की याद ताजा रहे। 

स्वाइन फ्लू का कहर पूरे देश में बरप रहा है। मध्यप्रदेश भी इसकी जकड़ में है। 2015 में जब देश स्वाइन फ्लू की गिरफ्त में था उस वक्त मध्य प्रदेश में स्वाइन फ्लू के 2,445 मामले आए थे, जिसमें 367 मरीज़ों की मौत हुई थी। 2017 में इस बार स्वाइन फ्लू के 455 संदिग्ध मामलों में 101 लोग स्वाइन फ्लू के लिये पॉज़िटिव पाए गए, जिसमें 16 की मौत हो चुकीं हैं। यह आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। 

पत्रकार जानना चाहते थे कि स्वास्थ्य विभाग ने इस बार ऐसी क्या विशेष तैयारी की है ताकि 2015 जैसे हालात ना बनें। जवाब में मंत्री ने कहा कि हमारे यहाँ दवाइयां और सुविधाएँ एक्सेस में हैं, रही बात मौत की तो वह तो भगवान के हाथ में है। स्वाइन फ्लू के मरीजों को हम आखिरी सांस तक हम इलाज देते हैं। स्वास्थ्य सिस्टम में करोड़ों का बजट पास होता है, लेकिन फिर भी स्वाइन फ्लू के मामला नहीं थम रहे हैं। इस सवाल पर मंत्री ने चुप्पी साधली। यहां सवाल यह था कि स्वाइन फ्लू के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार क्या उपाय कर रही है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week