कैलाश विजयवर्गीय के समर्थन में खुलकर सामने आए कांग्रेस MLA जीतू पटवारी

Thursday, March 2, 2017

भोपाल। चाइल्ड ट्रेफिकिंग के मामले में नाम सामने आने के बाद तनाव में आए भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय को राहत देने के लिए भाजपा का कोई दिग्गज तो सामने नहीं आया लेकिन कांग्रेस के जुझारू विधायक जरूर ढाल बनकर खड़े हो गए हैं। हालांकि कांग्रेस ने इस मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है। इसके इतर आज ही खबर आई है कि कांग्रेस के 5 विधायक भाजपा ज्वाइन करने वाले हैं। इनमें से 3 युवा हैं। सूत्र बता रहे हैं कि प्रदेश में भाजपा सरकार होने के कारण इनके व्यवसायिक हित प्रभावित हो रहे थे। भाजपा नेता पर्दे के पीछे से इन्हे मदद कर रहे थे। अब खुलकर भाजपा में लाना चाहते हैं। 

मध्य प्रदेश के इंदौर से कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने ट्वीट कर कैलाश विजयवर्गीय पर लगे आरोपों का बचाव किया है। बंगाल में बाल तस्करी से जुड़े मामले में पटवारी ने लिखा, 'मैं कैलाश विजयवर्गीय पर लगे तस्करी के आरोपों को पूर्णत: असत्य और निराधार मानता हूं, राजनीतिक प्रतिद्वंदता किसी के चरित्रहनन की इजाजत नहीं है। 

क्या है मामला
पश्चिम बंगाल में बच्चों की खरीद-फरोख्त और तस्करी मामले में गिरफ्तार विमला आवास कांड की आरोपी चंदना चक्रवर्ती ने बच्चों को बेचने के मामले में भाजपा नेता रूपा गांगुली, पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और जूही चौधरी का नाम लिया है। विमला शिशु गृह चलाने वाली चंदना चक्रबर्ती कई दिन से पुलिस हिरासत में है। जिस पर 17 बच्चों को बेचने का आरोप है।

आरोप लगे हैं तो कुछ सच्चाई भी होगी: कांग्रेस
कांग्रेस विधायक भले ही कैलाश विजयवर्गीय पर लगे आरोपों को झूठा बता रहे हों, लेकिन मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने ज्यूडीशियल स्तर की उच्च स्तरीय जांच की मांग करते हुए विजयवर्गीय पर निशाना साधा है। अरुण यादव ने इसे काफी गंभीर आरोप बताते हुए कहा कि विजयवर्गीय को इन आरोपों की सच्चाई को लेकर जवाब देना चाहिए। साथ ही ये भी कहा कि जब आरोप लग रहे हैं इसका मतलब है कि कहीं कुछ गलत हुआ है। यादव ने ये भी कहा कि यदि इन आरोपों में सच्चाई है तो विजयवर्गीय के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।

गांगुली-विजयवर्गीय ने आरोपों को किया खारिज
रूपा गांगुली और कैलाश विजयवर्गीय ने आरोपों को खारिज किया है। विजयवर्गीय ने इन आरोपों पर कहा कि उनका इस मामले से कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने पश्चिम बंगाल पुलिस की जांच पर सवाल उठाते हुए ये मामला किसी निष्पक्ष एजेंसी को सौंपने की मांग की है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं