आटा चक्की को हाथ लगाने के कारण दलित का सिर कलम कर दिया - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

आटा चक्की को हाथ लगाने के कारण दलित का सिर कलम कर दिया

Sunday, October 9, 2016

;
उत्तराखंड। यहां दबंग ने एक दलित युवक की दरांती से सिर कलम कर दिया। बताया जा रहा है कि वो दलित द्वारा आटा चक्की को हाथ लगाने से नाराज था। चक्की पर माता के प्रसाद के लिए आटा तैयार हो रहा था तभी दलित वहां पहुंच गया और अनजाने में उसने चक्की को हाथ लगा दिया। जब दबंग ने नाराज होकर गालियां दीं तो दलित युवक भी जवाब देने लगा। बात बढ़ गई और दबंग ने दलित युवक का दरांती से सिर कलम कर दिया। 

बागेश्वर जिले के कडारिया गांव में एक दलित की हत्या का मामला सामने आया है। दलित की हत्या के पीछे जाति के खिलाफ टिप्पणी और उसका विरोध की बात सामने आई है। घटना तब हुई जब कडारिया का रहने वाला सोहनराम (35) गांव की ही आटा चक्की पर अनाज की खाली बोरियां लेने के लिए गया था। वहां जब वो चक्की के भीतर बोरियां इकट्ठी कर रहा था तो वहां बैठे प्राथमिक विद्यालय के अध्यापक घनश्याम कर्नाटक ने उस पर जाति को लेकर टिप्पणी की। घनश्याम ने सोहनराम पर चक्की को छूकर उसे अशुद्ध कर देने की बात कहते हुए उसे गाली दी, जिससे आहत होकर सोहनराम ने घनश्याम को इस तरह की बात ना कहने को कहा। 

इस पर घनश्याम का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया और अपने सामने जुबान चलाने की बात कहते हुए सोहन पर दरांती से हमला कर दिया। दरांती से गर्दन पर हुए वार से सोहनराम का गला कट गया और वो जमीन पर गिर पड़ा। अत्यधिक खून बहने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने बताया है कि ये घटना मंगलवार की शाम हुई। पुलिस ने घनश्याम, उसके पुत्र और पिता पर मामला दर्ज कर मुख्य आरोपी घनश्याम को गिरफ्तार कर लिया है। 

आटा चक्की चलाने वाले कुंदन सिंह भंडारी के अनुसार, सोहन अक्सर ही उसके यहां आया करता था। वो उसके यहां से गेंहू की खाली बोरियां ले जाता था। कुंदन के अनुसार मंगलवार शाम जब सोहन आया तो घनश्याम भी वहां आ गया और उसे चक्की के पास देख सब अशुद्ध कर देने की बात कहते हुए गालियां देने लगा, जिसके बाद सोहनराम ने इसका विरोध किया तो उसपर दरांती से हमला कर दिया गया। 

मृतक के चाचा केशव सिंह ने कहा कि उच्च जाति के लोगों के साथ-साथ दलित भी इसी आटा चक्की से आटा लेते रहे हैं। उन्होंने बताया कि कुछ दिन पहले नवरात्रि के चलते उच्च जाति के लोगों ने चक्की से आटा ना लेने की धमकी दी हुई है। दलितों को कहा गया है कि देवियों को प्रसाद के लिए आटा तैयार हो जाने के बाद ही वो चक्की से आटा लें। सोहनराम की मौत पर प्रदेश में दलितों ने जगह-जगह विरोध प्रदर्शन किए हैं। दलितों ने आरापियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है। कई दलित संगठनों ने दलितों को लगातार निशाना बनाए जाने पर निराशा जताई है।
;

No comments:

Popular News This Week