SBI: आपका गोल्ड लॉकर में ही रहेगा और ब्याज भी मिलेगा | INVESTMENT SCHEME

03 August 2018

ज्यादातर लोग अपना गोल्ड बैंक के लॉकर में रखते हैं। इसके लिए उन्हे लॉकर का किराया भी चुकाना पड़ता है परंतु स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) की गोल्‍ड डिपॉजिट स्‍कीम (R-GDS) के तहत यदि आप अपने गोल्ड को जमा कराते हैं तो वह लॉकर में ही रहेगा और आपको ब्याज भी मिलेगा। भारतीय स्‍टेट बैंक आपकी ज्‍वेलरी या सोने की शुद्धता के आधार पर आपको सोने का जमा प्रमाण पत्र देता हैं। 

गोल्‍ड डिपॉजिट स्‍कीम में निवेश कौन कर सकता है

एसबीआई की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, भारत में रहने वाला कोई भी व्यक्ति इस स्कीम में शामिल हो सकता हैं। सिंगल, जाइंट अकाउंट भी खुलवाया जा सकता हैं। एचयूएफ, पार्टरशिप फर्म भी इसमें निवेश कर सकती हैं। 

R-GDS में कम से कम कितना सोना जमा करना होगा

इस स्कीम के तहत 30 ग्राम सोना जमा करना अनिवार्य है, ज्यादा की कोई लिमिट नहीं है।

R-GDS में कितने साल के लिए होता है जमा गोल्ड

इस स्कीम में 1-3 साल के लिए जमा किया जाता है। एसबीआई में इस स्कीम का नाम शॉर्ट टर्म बैंक डिपॉजिट (STBD) रखा हैं। वहीं, मीडियम और लॉन्ग टर्म के लिए जमा अवधि 5-7 और 12-15 साल है। 

STBD में कितना मिलेगा ब्याज

STBD स्कीम में फिलहाल एक साल के लिए 0.50 फीसदी ब्याज दिया जा रहा है. दो साल के लिए 0.55 फीसदी और तीन साल के लिए 0.60 फीसदी है। वहीं, लॉन्ग टर्म यानी 5-7 साल के लिए 2.25 फीसदी/सालाना ब्याज मिलेगा. 12-15 साल के लिए 2-5 फीसदी/सालाना का ब्याज मिलेगा।

स्कीम को बीच में तोड़ने पर

एक साल के तय समय से पहले पैसा निकालने पर ब्याज दर पर पैनल्टी लगेगी। वहीं, मीडियम टर्म वाली अवधि में निवेशक 3 साल के बाद स्कीम से बाहर हो सकते हैं। लॉन्ग टर्म वाली स्कीम से 5 साल के बाद ही बाहर निकला जा सकता हैं। इन अवधी के बीच में पैसा निकाला तो पैनल्टी लगेगी। 

फायदा क्या होगा

निष्क्रिय सोने पर मिलेगा ब्‍याज-लॉकर में रखे सोने में आपको कुछ नहीं मिलता है। तो वहीं निष्क्रिय सोना यानी की बहुत दिनों से घर पर पड़े हुए सोने पर आपको ब्‍याज भी मिलेगी। एसबीआई गोल्ड डिपॉजिट स्कीम के अंतर्गत, ब्याज, गोल्ड मुद्रा में गणना की जाती है और रुपये के बराबर में भुगतान किया जाता है।

टैक्‍स में छूट भी मिलेगी

अगर आपके पास कमाई से ज्‍यादा का सोना है तो आपको इसके लिए संपत्ति कर के तहत टैक्‍स भरना पड़ेगा। हालांकि, एसबीआई गोल्ड डिपॉज़िट योजनाओं पर कोई संपत्ति कर, पूंजीगत लाभ कर या आयकर देय नहीं है। यानी कि आपको टैक्‍स में छूट मिल जाएगी।

सोने के दाम बढ़ने पर मिलेगा ज्यादा फायदा

जब आपकी सोना जमा योजना परिपक्व होती है, तो आप मौजूदा दरों पर रिडीम करते हैं, जिसका मतलब है कि सोने की कीमतों में इजाफा हुआ है, तो आप लाभ हासिल कर सकते हैं। आप इसे लॉकर में रखे सोने की कीमत से तुलना करें आपको यहां पर डिपॉजिट स्‍कीम में ब्‍याज मिलेगा लेकिन लॉकर में रखे सोने पर नहीं मिलेगा।

लोन की सुविधा भी है

आप भारतीय स्टेट बैंक की किसी भी शाखा में गोल्‍ड के मौलिक मूल्य के 75 प्रतिशत तक रुपये के ऋण का लाभ उठा सकते हैं। यानी आपको एसबीआई की गोल्‍ड डिपॉजिट स्‍कीम से लोन में भी फायदा मिलेगा।

लॉकर की फीस और चोरी की कोई टेंशन नहीं 

आपको अपने सोने और आभूषणों को स्टोर करने के लिए लॉकर की लागतों के बारे में चिंता करने की आवश्यकता नहीं है और चोरी की कोई चिंता भी नहीं है। जारी किए गए प्रमाण पत्र अत्यंत सुरक्षित होते हैं।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week