LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




सीएम योगी आदित्यनाथ ने बदले तेवर, दिया विवादित बयान | NATIONAL NEWS

04 March 2018

इलाहाबाद। योगी आदित्यनाथ जब से यूपी के सीएम बने हैं उन्होंने अपनी कट्टर हिंदूवादी छवि के विपरीत जाते हुए राजधर्म का पालन किया लेकिन रविवार को इलाहाबाद के फूलपुर में हुई दो चुनावी सभाओं में योगी ने विवादित बयान दे डाला। सीएम योगी ने दोनों ही चुनावी सभाओं में होली के दिन जुमे की नमाज का वक्त बदले जाने का श्रेय खुद अपनी ही सरकार को देने की कोशिश की तो साथ ही उन्होंने अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को इशारों-इशारों में धमकाया भी। एक तरफ तो उन्होंने कहा कि होली पर जुमे की नमाज का वक्त बदलकर मुस्लिम धर्मगुरुओं ने अच्छी पहल की, लेकिन साथ ही उन्होंने दोनों ही सभाओं में यह बात जोर देकर कही कि साल में एक बार पड़ने वाले होली के त्योहार का सभी को सम्मान तो हर हाल में करना ही होगा। 

सीएम योगी के भाषण के इसी वाक्य पर विपक्षी पार्टियों के साथ ही अल्पसंख्यकों को ऐतराज हो सकता है। इतना ही नहीं सीएम योगी ने दोनों ही सभाओं में होली के त्योहार और जुमे की नमाज की आपस में तुलना भी की और दोनों ही जगहों पर साफतौर पर कहा कि होली का महत्व इसलिए काफी ज़्यादा है क्योंकि वह साल में एक बार पड़ती है, लेकिन जुमे का दिन तो साल में 52 बार आता है। 

उन्होंने इस बात का श्रेय लेने की भी कोशिश की कि उनके दबाव की वजह से ही इस बार होली का रंग खेलने का वक्त कम नहीं किया गया, बल्कि पहली बार होली की वजह से जुमे की नमाज को दो घंटे के लिए आगे बढ़ाना पड़ा। अपनी सभाओं में सीएम योगी ने बार-बार दोहराया कि उन्होंने अफसरों को पहले ही सख्त हिदायत दे दी थी कि जुमे की नमाज के चलते इस बार होली पर रंग खेलने का वक्त कम नहीं किया जाएगा। 

सीएम योगी के इस बयान को पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव में पीएम मोदी द्वारा श्मशान-कब्रिस्तान और रमजान-दिवाली पर बिजली की सप्लाई पर दिए गए विवादित बयान की कड़ी के तौर पर जोड़ा जा रहा है। गौरतलब है कि सीएम योगी ने रविवार को इलाहाबाद की फूलपुर लोकसभा सीट पर हो रहे चुनाव में पार्टी उम्मीदवार कौशलेन्द्र पटेल के समर्थन में दो चुनावी सभाओं को संबोधित किया। उनकी पहली सभा फाफामऊ विधानसभा क्षेत्र के नवाबगंज कस्बे में हुई, जबकि दूसरी सभा सिटी वेस्ट इलाके के प्रीतम नगर मोहल्ले में हुई। सीएम योगी ने दोनों ही सभाओं में होली और जुमे की नमाज की तुलना की और वाहवाही लूटकर लोगों को लुभाने की कोशिश की।



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->