Loading...

प्रियंका गांधी ने पूछा: क्या बैटमार विधायक पर सख्त कार्रवाई की संभावना है | MP NEWS

भोपाल। इंदौर 3 दिन के विधायक आकाश विजयवर्गीय नगर निगम अधिकारी को पहले तो बल्ले से पीटा और फिर अपनी हिंसक कार्रवाई को उचित ठहराने के लिए सोशल मीडिया पर अभियान चलाया। शहर भर में पोस्टर्स लगवाए। जब से पीएम नरेंद्र मोदी ने इसकी निंदा की तब से भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय लगातार कोशिश कर रहे हैं कि यह मामला अब सुर्खियों से गायब हो जाए परंतु ऐसा हो नहीं पा रहा है। आज प्रियंका गांधी ने आकाश विजयवर्गीय को लेकर सवाल पूछ लिया है। 

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बीजेपी पर हमला करते हुए आरोप लगाया कि भाजपा के कुछ नेता सत्ता के नशे में इतने चूर हो गए हैं कि वे ड्यूटी करने वाले सरकारी कर्मचारियों को पीटने से भी पीछे नहीं हट रहे हैं। उन्होंने सवाल किया कि क्या इन नेताओं के खिलाफ कोई कार्रवाई की जाएगी। प्रियंका ने ट्वीट कर कहा कि कोई भाजपा का नेता किसी सरकारी कर्मचारी को क्रिकेट के बल्ले से पीटता है, तो कोई दूसरा टोल शुल्क मांगने पर फायरिंग कर लाठी-डंडे चलाता है। 

प्रियंका गांधी की ये प्रक्रिया उस वीडियो के सामने आने के बाद आई है, जिसमें भाजपा सांसद एवं अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष रामशंकर कठेरिया अपने सुरक्षाकर्मियों के साथ शनिवार को एक टोल नाके पर मारपीट करते दिखाई दे रहे हैं। रामशंकर कठेरिया और उनके सुरक्षाकर्मियों ने न केवल टोल कर्मचारियों की पिटाई की बल्कि हवा में गोलियां भी चलाईं।

बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी भी विधायक आकाश विजयवर्गीय और उनकी जमानत पर जश्न मनाने वाले भाजपा नेताओं की ना केवल निंदा कर चुके हैं बल्कि सख्त लहजे में कह चुके हैं कि ऐसे नेताओं के लिए भाजपा में कोई जगह नहीं है परंतु आकाश विजयवर्गीय, महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का बेटा हैं इसलिए उनके खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। यहां तक कि एक कारण बताओ नोटिस तक जारी नहीं किया गया।