रात के खाने में क्या खाएं, जानिए इसके आयुर्वेदिक नियम | Ayurvedic Rules for Dinner

14 October 2018

कहा जाता है कि सुबह का नाश्ता आपके दिनभर तरोताजा और हेल्दी बनाए रखता है। लेकिन लोग ब्रेकफास्ट को लेकर लापरवाही बरतते हैं और जल्दबाजी में नाश्ता स्किप कर देते हैं। यही खाने की गलत आदत आपकी सेहत को नुकसान पहुंचाती  है। सुबह के नाश्ते से जहां ऊर्जा मिलती है वहीं रात का खाना भी आपके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। ऐसे में लोग ये जरूर जानना चाहते हैं कि रात के डिनर के क्या आयुर्वेदिक नियम हैं, जिसे वे फॉलो कर खुद को स्वस्थ रख सकते हैं। तो जानिए डिनर में क्या खाएं, क्या नहीं और इसके आयुर्वेदि नियम। 

रात में नमक खाना कैसे नुकसानदायक है

जो लोग रात के  खाने में नमक ज्यादा डालते हैं, उन्हें सावधान रहना  चाहिए और डिनर में नमक कम खाने की आदत डालनी चाहिए। क्योंकि अगर नमक ज्यादा हुआ तो हार्ट अटैक और बीपी का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है। 

समय पर खाएं खाना

आयुर्वेद में साफ लिखा है कि रात का खाना समय पर खा लें। देरी से खाना खाने का मतलब है बीमारियों को बुलावा देना। 

मैथी और सौंफ 

आयुर्वेद के अनुसार रात के खाने में मैथी और सौंफ का सेवन ज्यादा करना चाहिए। इससे पेट तो साफ रहेगा और वजन भी नियंत्रण में रहेगा। 

हल्दी का दूध-

आयुर्वेद के नियम के अनुसार रात को खाना खाने के बाद और सोने से दो घंटे पहले हल्दी वाला दूध जरूर पीएं। इससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। 

सलाद कितना फायदेमंद

सलाद सेहत के लिए कितना फायदेमंद है, ये तो हम सभी जानते हैं। ऐसे में अगर रात में खाने के साथ सलाद का सेवन करेंगे तो रोगों से दूर रहेंगे। सलाद पित्त रोगों को दूर करने का काम करता है।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week