कोहली को भी है हार्दिक के विकेट का दुख

Monday, June 19, 2017

डेस्क। आईसीसी चैंपियन्स ट्राफी फाइनल में शर्मनाक हार के बाद भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने पाकिस्तान को जीत की बधाई दी और पूरी टीम के खेल की तारीफ की। साथ ही हार्दिक पांड्या के विकेट का दुख भी जताया। दरअसल, हार्दिक का विकेट पाकिस्तान ने नहीं लिया बल्कि रविन्द्र जडेजा ने पाकिस्तान को गिफ्ट कर दिया। पिच पर जडेजा रन लेने के लिए आगे बढ़े और बिना हार्दिक को कोई संकेत दिए वापस लौट गए। इधर हार्दिक लगातार आगे बढ़ते चले गए। रविन्द्र जडेजा की यह हरकत खेल के नियम और टीम भावना के खिलाफ थी। जडेजा ने अपना विकेट बचाने के लिए हार्दिक का विकेट गिरवा दिया। यह सबकुछ तब हुआ जब हार्दिक फार्म में चल रहे थे। वो 50 बना चुके थे और हर कोई आश्वस्त था कि वो 100 बनाएंगे। 

हमने सिर्फ एक मैच गंवाया है 
कोहली ने मैच के बाद कहा कि छोटी-छोटी गलतियां बहुत भारी पड़ सकती हैं लेकिन हमने क्रिकेट का एक मैच ही गंवाया है। हमें अब इसको पीछे छोड़कर आगे बढ़ना होगा और गलतियों से सीख लेनी होगी। उन्होंने पाकिस्तान को जीत का श्रेय दिया और माना कि उनकी टीम खेल के हर विभाग में दोयम दर्जे की साबित हुई। जसप्रीत बुमरा ने अगर शुरू में नो बॉल नहीं की होती तो फखर जमां तीन रन पर आउट हो जाते लेकिन उन्होंने बाद में 114 रन बनाये जिससे पाकिस्तान चार विकेट पर 338 रन बना गया। इसके जवाब में भारतीय टीम 158 रन पर ढेर हो गयी। 

खेल में ऐसा होता है 
कोहली ने कहा, मैं पाकिस्तान को बधाई देना चाहता हूं। उनके लिये यह टूर्नामेंट शानदार रहा। जिस तरह से उन्होंने पूरा पासा पलटा उससे पता चलता है कि उनके पास प्रतिभा की कमी नहीं है। उन्होंने फिर से साबित कर दिया कि जब उनका दिन होता है तो वे किसी को भी उलटफेर का शिकार बना सकते हैं।  उन्होंने कहा,  हमारे लिये निराशाजनक है लेकिन मेरे चेहरे पर मुस्कान है क्योंकि हम अच्छा खेलकर फाइनल तक पहुंचे। पाकिस्तान को श्रेय जाता है। उन्होंने हमें सभी विभागों में हराया। खेल में ऐसा होता है।

हार्दिक पंड्या की विराट ने की पढ़ाई
कोहली ने कहा, हम किसी को भी हल्के में नहीं ले सकते हैं लेकिन उन्होंने अच्छा जज्बा और जुनून दिखाया। गेंदबाजी में हम विकेट लेने के कुछ और मौके निकाल सकते थे। हमने सर्वश्रेष्ठ कोशिश की लेकिन गेंदबाजी में भी वे आक्रामक थे। हम डटकर नहीं खेल पाये, लेकिन हार्दिक की पारी बेजोड़ थी। अगर उसे और मौका मिलता तो अच्छा खेल देखने को मिल सकता था।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week

 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah