Loading...

मोदी सरकार ने छोटे SAVING PLAN में ब्याज घटाया

नई दिल्ली। नए वित्त वर्ष की शुरुआत से ठीक एक दिन पहले बड़ी खबर सामने आई है। सरकार ने छोटी बचत जमा पर ब्याज दर कम कर दी है। नए फैसले के मुताबिक छोटी बचत जमा पर ब्याज दर में 0.1 फीसद की कमी की गई है। नया नियम 1 अप्रैल से ही अमल में आ जाएगा। इस तरह की स्कीम में पीपीएफ प्रमुखता से शामिल है। गौरतलब है कि साल 2016 के अक्टूबर महीने में भी छोटी बचत योजनाओं में इतनी ही कमी की गई थी।

छोटी बचत योजनाओं में क्या कुछ शामिल
छोटी बचत योजनाओं में पब्लिक प्रॉविडंट फंड (पीपीएफ),किसान विकास पत्र, नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट, पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम, पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट और सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम आती हैं। पीपीएफ में सालाना आधार पर 8 फीसद की दर से ब्याज मिलता है, जबकि 7.7 फीसद और सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम म 8.5 फीसद की दर से ब्याज मिलता है।

क्या होंगी नई दरें, जानिए
पॉपुलर प्रॉविडेंट फंड की नई दरें अब घटकर 7.90 फीसद हो जाएंगी जो कि पहले 8 फीसद थी। नई दरें 1 अप्रैल से ही लागू हो जाएंगी। ठीक इसी तरह किसान विकास पत्र की ब्याज दर भी 7.6 फीसद हो जाएगी, वहीं पांच वर्षीय सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में अब 8.4 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा, जबकि पांच साल के नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट में 7.9 फीसद की दर से सालाना ब्याज दिया जाएगा।