MP NEWS - महिला SDM की संदिग्ध मौत, ग्वालियर के मनीष पर हत्या का शक, छत्तीसगढ़ की बेटी थी

मध्य प्रदेश शासन राज्य प्रशासनिक सेवा की महिला अधिकारी श्रीमती निशा नापित की संदिग्ध अवस्था में मृत्यु हो गई। घटना के समय वह डिंडोरी जिले में शहपुरा एसडीएम के पद पर पदस्थ थी। निशा का मायका छत्तीसगढ़ और ससुराल ग्वालियर में है। निशा की बहन ने निशा के पति श्री मनीष शर्मा पर हत्या का शक जताया है। 

डिप्टी कलेक्टर निशा नापित के पति का बयान

मनीष शर्मा का कहना है कि निशा का एक गुर्दा काम करता था। उनको सर्दी-खांसी की बहुत दिक्कत रहती थी। शनिवार को उनका व्रत था और वे अमरूद खा रही थीं। मैंने मना किया फिर भी वे दो अमरूद खा गईं। 10 बजे के आसपास उनको उल्टी हुई। फिर उनकी नाक से ब्लड आया। हमारी बहस भी हुई। वो नहीं मानीं, गुस्से में सो गईं तो मैं भी गुस्से में बाहर आ गया।

MP NEWS - घर में डेड बॉडी पड़ी थी, ना बाई को दिखी ना बाबा को

रविवार को कोई काम रहता नहीं, इसलिए मैंने जगाया ही नहीं। दस बजे काम वाली बाई आई तो मैं घूमने चला गया। फिर बाई ने खाना बनाया। बाई चली गई। फिर बाबा आया। लाइट भी नहीं थी। कल कटौती बहुत हुई, इसलिए बाबा भी लौट गया। फिर दो बजे के आसपास मैंने सोचा जगा लूं मैडम को। वे नहीं जागीं तो सीपीआर दिया। तीन बजे के आसपास ड्राइवर को फोन लगाया, वो डॉक्टर को लेकर आया। डॉक्टर ने कहा, अस्पताल ले चलो। अस्पताल में उन्होंने सीपीआर दिया। उन्होंने कहा- हाइपरटेंशन या फिर ब्रेन हेमरेज की वजह से नाक से खून निकलता है।

DINDORI NEWS - निशा की बहन नीलिमा का आरोप

एसडीएम निशा की बड़ी बहन नीलिमा नापित ने आरोप लगाया कि मनीष के कई लोगों से संबंध हैं वो पैसे को लेकर निशा को प्रताड़ित करता था। मेरी बहन को कोई बीमारी नहीं थी। सर्दी-जुकाम तो सभी को होता है। मनीष ने कुछ गड़बड़ किया है। एफएसएल टीम को चादर, तकिया और निशा के कपड़े वाशिंग मशीन में मिले हैं। मतलब वो साक्ष्य छिपाने का प्रयास कर रहा है। पुलिस ने सब जब्त कर लिया है। मनीष ने कर्मचारियों को निशा के कमरे तक में नहीं जाने दिया।

मंडला में भी दोनों के बीच लड़ाई हुई थी

नीलिमा ने बताया कि वर्ष 2020 में निशा ने ग्वालियर निवासी मनीष शर्मा से शादी की थी। दोनों की मुलाकात मैट्रीमोनियल साइट पर हुई थी। निशा ने शादी कर ली थी। हम लोगों को बाद में जानकारी लगी थी। निशा एक बार हमसे मिलने घर आई तो पति भी साथ में था। मंडला में पोस्टिंग के दौरान भी दोनों के बीच खूब विवाद हुआ था। तत्कालीन एसपी ने दोनों को समझाइश दी थी।

डॉक्टर ने पुलिस को सौंपी रिपोर्ट

बताया जा रहा है कि डॉक्टर ने इलाज करना शुरू किया उससे पहले ही एसडीएम निशा की मौत हो चुकी थी। हालांकि, इसे लेकर डॉक्टर ने पत्रकारों से किसी तरह की आधिकारिक जानकारी शेयर नहीं की है। पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्टर रत्नेश द्विवेदी का कहना है कि एसडीएम निशा नापित को जब अस्पताल लाया गया था, उससे चार-पांच घंटे पहले ही उनकी मौत हो चुकी थी। डॉक्टर रत्नेश द्विवेदी का कहना है कि उन्होंने पुलिस को अपनी रिपोर्ट दे दी है। सुबह से ही बंगले में पुलिस अधीक्षक अखिल पटेल और एफएसएल की टीम जांच कर रही है।

MP NEWS - ग्वालियर का मनीष शर्मा संदेह के दायरे में

शुरुआती जांच में ये सामने आया है कि निशा ने अपने सरकारी दस्तावेज और बैंक डिटेल में पति की जगह बहन नीलिमा और उसके बेटे स्वप्निल का नाम बतौर नॉमिनी दिया है। सामान्य तौर पर विवाहित महिलाएं पति का नाम देती हैं, इसलिए पुलिस पति से भी संदेह के आधार पर पूछताछ कर रही है। इसके अलावा ड्राइवर और घर के एक अन्य कर्मचारी से भी पूछताछ की जा रही है।

छत्तीसगढ़ की रहने वाली, ग्वालियर में की थी शादी

22 दिसंबर 1973 छत्तीसगढ़ राज्य में जन्मी निशा नापित ने ग्वालियर के मनीष शर्मा से विवाह किया था। बतौर डिप्टी कलेक्टर निशा नापित जुलाई 2023 में पदस्थ हुईं, उन्हें सितंबर 2023 में विधानसभा चुनाव के पहले ही शहपुरा एसडीएम की कमान सौंपी गई थी। 

⇒ पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !