VRHMC GWALIOR NEWS- 25 लाख में फर्जी इंटर्नशिप का खुलासा, 2 डॉक्टरों के खिलाफ मामला दर्ज

Vasundhara Homoeopathic Medical College Gwalior घोटालों के लिए बदनाम होता जा रहा है। पिछले साल गबन का मामला दर्ज किया गया था। इस बार फर्जी इंटर्नशिप लेटर का मामला पुलिस थाने में दर्ज किया गया है। आरोप है कि पद का दुरुपयोग करते हुए 25 लाख रुपए की वसूली स्टूडेंट से की गई। 

शहर के कंपू स्थित वसुंधरा राजे होम्योपैथी चिकित्सा महाविद्यालय के उप प्रचार्य सुरेन्द्र पुत्र टीकाराम राय ने पुलिस को लिखित शिकायत दी थी कि उनके कॉलेज के कुछ लोगों ने इंटर्नशिप फर्जीवाड़ा किया है। उनकी शिकायत पर वर्ष 2020 के तत्काली प्रबंधन समिमि के अध्यक्ष डॉ. रणवीर सिंह कुशवाह और डॉ. गिरिजा शंकर शर्मा के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। 

मामला तब पकड़ में आया कि जब छात्रों ज्योति प्रकाश गौड पुत्र एपी गौड़, कपिल शर्मा पुत्र रमेश शर्मा, संजय पिपलिया पुत्र कैलाश पिपलिया, अंकित सोनी पुत्र सुनील कुमार सोनी ने राज्य परिषद में अप्लाई किया। डिग्री देने से पहले इंटर्नशिप सार्टिफिकेट वेरीफिकेशन के लिए कॉलेज को भेजे जाते हैं। इन चारों छात्रों के इंटर्नशिप सार्टिफिकेट कॉलेज पहुंचे। यह इंटर्नशिप सार्टिफिकेट 19 मई 2020 से 4 जून2020 के बीच कॉलेज से जारी किए जाना बताए गए। 

जब उप प्रचार्य सुरेन्द्र राय ने वेरिफिकेशन की प्रक्रिया शुरू की तो पता चला कि कॉलेज के रिकॉर्ड में उपरोक्त छात्रों के इंटर्नशिप सर्टिफिकेट का कोई उल्लेख नहीं है। रिकॉर्ड के अगले पन्नों में यह भी खुलासा हुआ कि स्टूडेंट्स की पढ़ाई पूरी नहीं हुई थी। कॉलेज मैनेजमेंट ने पूछताछ के लिए स्टूडेंट्स को बुलाया। ज्योतिप्रकाश और कपिल शर्मा ने प्रबंधन को बताया कि इंटर्नशिप सार्टिफिकेट कॉलेज के पूर्व अध्यक्ष डॉ. रणवीर सिंह कुशवाह के हस्तलेख पर कॉलेज के बाहर से तैयार करवाए गए हैं। 

प्राचार्य के स्थान पर डॉ. गिरिजा शंकर शर्मा ने हस्ताक्षर किए थे। इसके बदले उन्होंने ज्योति प्रकाश से 13 लाख से 25 लाख रुपए वसूले थे। इसी तरह अन्य दो छात्रों ने भी खुलासे किए। इसके बाद एक अन्य छात्रा को भी इसी तरह इंटर्नशिप सार्टिफिकेट बनवाकर देने का पता लगा। जांच पूरी होने के बाद उप प्रचार्य सुरेन्द्र राय ने मामले की शिकायत FIR दर्ज कराने कंपू थाने में दी थी। 

यह मामला मई-जून 2020 का बताया गया है। इस मामले में कंपू थाना पुलिस ने कॉलेज संचालन समिति के पूर्व अध्यक्ष डॉ. रणवीर सिंह कुशवाह, डॉ. गिरिजाशंकर शर्मा के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।