इलाज नहीं मिला, दिव्यांग ने आत्महत्या कर ली | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। घर वाले बहुत प्यार करते हैं, लेकिन बीमारी ने कमजोर कर दिया है, अब किसी पर बोझ नहीं बनना चाहता हूं, इसलिए जहर खाकर जान दे रहा हूं। मेरी मौत के बाद किसी को परेशान ना किया जाए। यह सुसाइड (Suicide) नोट में लिखकर एक युवक ने जहर खाकर जान दे दी (Died after consuming poison)। घटना कंपू थाना क्षेत्र स्थित जेएएच की है। घटना का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच के बाद मर्ग कायम कर शव को पीएम हाउस पहुंचाया।

थाटीपुर थाना क्षेत्र के 115 दर्पण कॉलोनी निवासी अशोक जोशी पुत्र जेके जोशी (Ashok Joshi son JK Joshi) प्रायवेट जॉब करते हैं और पैरों से दिव्यांग हैं। कुछ माह से वे बीमार चल रहे थे और उनका जेएएच में उपचार चल रहा था। उन्होंने सल्फास गटक लिया। जब उनकी हालत बिगड़ी तो डॉक्टरों ने पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और उन्हें गहन चिकित्सा इकाई में भर्ती कराया। जहां पर कुछ ही देर बाद उन्होंने दम तोड़ दिया। युवक की मौत का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और मर्ग कायम कर शव को पीएम हाउस पहुंचाया। वहीं तलाशी में उनकी जेब से एक सुसाइड़ नोट मिला। जिसे पुलिस ने जब्ती में ले लिया है। सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा था कि वह अपनी बीमारी से परेशान है और अपनी मर्जी से जहर खाकर जान दे रहे हैं, क्योंकि मैं किसी पर बोझ बनकर नहीं रहना चाहता हूं।

पुलिस पड़ताल में पता चला है कि अशोक की शादी नहीं हुई थी और वह भाई श्याम सुंदर के साथ रहता था। जहर खाने से पहले अशोक ने ही पुलिस को कॉल कर सूचना दी थी, जिससे वह लावारिश ना रहे और उसकी सूचना उसके परिजनों को मिल सके।