भोपाल रेल मंडल में राजनीति के बाद तबादले | BHOPAL NEWS

भोपाल। रेलवे की बदली हुई कमर्शियल पॉलिसी को लागू करना भोपाल रेल मंडल के कुछ अधिकारियों को महंगा पड़ गया है। जोन ने ऐसे अधिकारियों को भोपाल रेल मंडल से जबलपुर जोन मुख्यालय बुला लिया है। रेलवे ने सीनियर डीओएम विनोद तमोरी का नाम भी शामिल है। अन्य अधिकारियों को भी बदला गया है। हालांकि कुछ अधिकारियों को बगैर किसी आरोपों के बदल दिया है। जोन ने इसके आदेश बुधवार को किए हैं।

अब भोपाल रेल मंडल के सीनियर डीसीएम नवदीप अग्रवाल और सीनियर डीओएम डॉ. आरएन मीणा होंगे। इसके पूर्व अनुराग पटेरिया सीनियर डीसीएम थे उन्हें जबलपुर में डिप्टी सीएसओ ट्रैफिक बनाया है। वहीं मंडल में सीनियर डीओएम रहे विनोद तमोरी को जोन में डिप्टी सीओएम कोचिंग बना दिया है।

रेलवे के तबादला आदेश के मुताबिक राजेश शर्मा को पीओ आरसीटीसी भोपाल पदस्थ किया है वे जोन में डिप्टी सीएसओ थे। एसके श्रीवास्तव को एडिशनल रजिस्ट्री आरसीटी को स्वयं के अनुरोध पर जबलपुर में डीओएम बना दिया है। वहीं रोहित मालवीय को डीओएम जबलपुर से एडिशनल रजिस्ट्री आरसीटी भोपाल पदस्थ किया है।

रेलवे सूत्रों की माने तो इसमें से कुछ अधिकारियों को छोड़ दे तो यह तबादला सामान्य नहीं है। कुछ अधिकारियों को लेकर पूर्व से शिकायतें थी। इन शिकायतों के आधार पर रेलवे ने तबादला किया है। बता दें कि पूर्व में विनोद तमोरी भोपाल में सीनियर डीसीएम थे जिन्हें मंडल में ही सीनियर डीओएम बनाया था। वहीं उस वक्त सीनियर डीओएम रहे अनुराग पटैरिया को सीनियर डीसीएम बनाया था। इनमें से एक अधिकारी द्वारा जोन के वरिष्ठ अधिकारी द्वारा बदली गई कमर्शियल पॉलिसी को भोपाल मंडल में लागू किया था। इसके अलावा भी उक्त अधिकारी के खिलाफ कई शिकायतें थीं।