Advertisement

Showing posts with the label धरती के रंगShow all
मप्र: भस्मासुर से बचने के लिए इस गुफा में छिपे थे भालेनाथ
त्रयंबक महादेव में हैं एक साथ 3 शिवलिंग, कुंड से निकले थे
शिव भक्तों का आत्मीय तीर्थ वीरभद्रेश्वर, यही हुआ था राजा दक्ष के यज्ञस्थल का विध्वंस
यहां स्थित है दुनिया का एकमात्र राहू मंदिर | World's Only one Rahu Temple
भगवान जगन्नाथ के ट्रस्ट से होती है मस्जिद की देखभाल | Amazing but true Communal harmony
मप्र में बन रहा है एशिया का सबसे बड़ा नवग्रह मंदिर
जमीन से निकली 1280 किलो वजनी श्रीकृष्ण की प्रतिमा | Religious News
चमत्कार: गंगा में मंदिर के आसपास तैर रहा है 15 किलो का पत्थर
महामाया पीताम्बरा देवी (बगलामुखी देवी) की कथा
तरकुला देवी मंदिर: यहां अंग्रेजों की बलि दी जाती थी
36 साल बाद पानी से बाहर निकला सिंधिया का महल
छतरपुर में नदी से निकला 1300 साल पहले डूबा विशाल शिवलिंग
दक्षिण भारत के महापण्डित दिनकर राव पन्त ने बसाया था चिटगल
बेतालघाट: पृथ्वी का सबसे चमत्कारी घाट क्षेत्र
कनस्तर में भरते ही नदी का पानी घी में बदल गया था
रखवाला साँप: जान देकर बचाई 400 साल पुरानी ठाकुरजी की प्रतिमा
भगवान शिव ने यहां 60 हजार वर्षों तक समाधि ली थी
यहां हुआ था हनुमान जी का जन्म
इस मंदिर में दर्शन से तलाक रुक जाता है
स्वाइन फ्लू, डेंगू जैसे हर संक्रमण से नागा साधुओं की रक्षा करती है यह भस्म