वेलेंटाइन डे: पढ़िए आपकी राशि पर शुक्र का प्रभाव कैसा होगा | VALENTINE DAY SPECIAL

Saturday, February 10, 2018

भारत में माघशुक्ल पंचमी को वसंत पंचमी के रूप मॆ माना जाता है, वसंत को कामदेव का पुत्र माना जाता है, भगवान कृष्ण ने कहा है की ऋतुओं मॆ वसंत हूँ। योरोप मॆ संत वेलेंटाइन का जन्म भी वसंत ऋतु मॆ हुआ उन्होने उस समय का राजा जो सैनिकों की शादी विवाह का विरोधी था, उसका विरोध किया तथा कई शादी करवाई, जिसके कारण उन्हे फांसी पर लटकना पड़ा, इसीलिये इस दिन को उनके नाम से वेलेंटाइन डे के नाम से मनाया जाता है। प्रेम और त्याग का ग्रह शुक्र-शुक्र ग्रह को समस्त प्रकार के आकर्षण, प्रेम का कारक माना गया है, शादी विवाह, वात्सल्य, ममता सब इस ग्रह से ही देखा जाता है। 

स्त्री पुरुष का आकर्षण, सेक्स सब इस ग्रह से ही देखा जाता है, प्यार मॆ दीवानापन, जीने मरने की बाते सब इस ग्रह की ही देन है, यह ग्रह राधाकृष्ण के दिव्यप्रेम का कारक है जो परमात्मा का वास्तविक और उच्च प्रेम की अवस्था है। कैसे मनाये-14 फरवरी को भगवान राधा कृष्ण के मंदिर जोड़े से अर्थात प्रेमी प्रेमिका पति पत्नी जाये उनका पूजन और अभिषेक करें, गोपाल सहस्त्रनाम राधाअष्टक का पाठ करें, राधे गोविंद इस नाम का जाप करें, इससे निश्चित रूप से आपको दिव्य प्रेम की प्राप्ति होगी।

सभी राशियों के लिये 
मेष-इस राशि के लोग यदि अहंकार और उतावलापन छोड़दें,
तो निश्चित रूप से उन्हे अपना दिव्य प्रेम प्राप्त हो जायेगा,अपने प्रेम को गुलाबी फूल देकर प्रसन्न करें।
वृषभ-इस राशि के लिये प्रेम मॆ कोई दिक्कत नही,उन्हे अपना मनपसंद प्रेम प्राप्त होगा,अपने प्रेमी का स्वागत सफेद गुलाब से करें।
मिथुन-ये लोग बिना प्रेम के रह ही नही सकते,इनके जीवन की शक्ति ही प्रेम है,लेकिन ध्यान रहे जहां प्रेम है वहां बुद्धि का इस्तेमाल न करें,अपने प्रेम को नीला गुलाब दें।
कर्क-इन लोगो को प्रेम सम्बंध मॆ कड़ी परीक्षा देनी पड़ती है,इसीलिये सहनशक्ति का परिचय दें,अपने प्रेम को पीला गुलाब उपहार मॆ दें।
सिंह-इनके लिये प्रेम सम्बंध मतलब अग्निपरीक्षा देने के समान है,संयम से प्रेम की प्राप्ति सम्भव है,अपने प्रेम को दिन मॆ पीला और रात नीला गुलाब दें।
कन्या-वास्तव मॆ वसंत ऋतु और वेलेंटाइन के सही हकदार यही लोग है,कामदेव की इनपर पूर्ण कृपा होती है,इसीलिये अपने प्रेम को पीला,सफेद और हरे फूलों का उपहार दें।

तुला-प्रेम सम्बंधों के मामले मॆ ये लोग भी विशेष भाग्यशाली होते है,इसके लिये परमात्मा का आभार व्यक्त करें,साथ ही अपने प्रिय को सुबह सफेद दोपहर को हरा और रात मॆ नीला गुलाब दें।
वृश्चिक-प्रेम सम्बंधों के विषय मॆ ऐसे लोग यदि अहंकार त्यागे तो सफल रहेंगे,अपने प्रेम को पीले,गुलाबी और सफेद फूल दें।
धनु-इस राशि का प्रेम सम्बंध संतुलित रहता है,आपसी मतभेद सुलझाना तथा आपसी समझ विकसित करना ही सच्चे प्रेम की निशानी है,अपने प्रिय को पीले और गुलाबी फूलों से स्वागत करें,प्रेम व्यक्त करें।
मकर-प्रेम सम्बंधों के मामले मॆ यदि आप व्यर्थ ही भावुक न हो तो आपको खास सफलता मिलती है,आप प्रेम के मामले मॆ भाग्यशाली है,यह प्रेम आपके लिये अमूल्य है,अपने प्रिय को सफेद ,हरे और नीले फूलों से रात्रि या सायंकाल अपना प्रेम व्यक्त करें।
कुम्भ-ये लोग भी प्रेम सम्बंधों के मामले मॆ विशेष भाग्यशाली होते है,इसीलिये अपने प्रिय का मानसम्मान दिल से करें,अपने प्रिय को सफेद और नीले गुलाबो से आकर्षित करें।
मीन-प्रेम सम्बंध आपके लिये घातक भी हो सकता है,इसीलिये भावुकता से बचें,दिमाग का विषेष  प्रयोग करें,अपने प्रिय को सफेद और पीले फूलों द्वारा रिझाये।
विशेष-प्रेम परमात्मा का रूप एक दूसरे के दुख सुख मॆ निष्काम भाव से सहयोग का रूप है,दैहिक आकर्षण कदापि नही,इसीलिए प्रेम मॆ दिव्यता,उच्च चरित्र का परिचय दें।
प.चंद्रशेखर नेमा"हिमांशु"
9893280184,7000460931 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week