पत्नी ने लिया सन्यास, पति ने नोटिस भेज दिया | MP NEWS

Tuesday, February 13, 2018

शरद गुप्ता/नागदा/उज्जैन, मध्यप्रदेश 22 अप्रैल को पालिताणा गुजरात में सांसारिक जीवन से संन्यास लेने की घोषणा करने वाली नागदा की ऋतु कानूनी घेरे में फंस गई है। उनके पति भेरूलाल ने पत्नी और जैन समाज के सुनील वागरेचा को लीगल नोटिस भेजकर सचेत किया है कि उनका 16 साल का एक बेटा है। तलाक का प्रकरण एडीजे न्यायालय में लंबित है। केस की 15 फरवरी को सुनवाई होना है, जब तक प्रकरण का निराकरण न हो जाए पत्नी ऐसा कोई कदम नहीं उठा सकती। भेरूलाल और ऋतु दोनों नागदा में ओझा कॉलोनी के निवासी है। पति का आरोप है कि उसके ससुर सीताराम सुनहरिया ने ऋतु को बहकाकर संन्यास के लिए दबाव बनाया है। तलाक के लिए न्यायालय में प्रकरण भी जबरदस्ती दाखिल किया। साजिश रचकर पत्नी ऋतु को कई माह से उनसे दूर रखा जा रहा है। 

इसलिए फिलहाल तलाक पर चल रहा विचार 
गौरतलब है कि एडीजे न्यायालय खाचरौद ने भेरूलाल के पेशी पर उपस्थित नहीं होने पर एकपक्षीय फैसला देते हुए 8 मार्च 2017 को ऋतु के पक्ष में फैसला देकर तलाश मंजूर किया था। लेकिन मामले में भेरूलाल ने निर्णय के खिलाफ फैसले को निरस्त करने का आवेदन न्यायालय को दिया है। इस पर 15 फरवरी को सुनवाई होना है। 

हमारे पास नहीं बेटी, कैसे लें नोटिस
मामले में भेरूलाल के वकील कमल मालवीय ने बताया उनके पक्षकार की गैरमौजूदगी में न्यायालय ने फैसला दिया था। जैसे ही उनके पक्षकार को एकतरफा आदेश की सूचना मिली उन्होंने न्यायालय में प्रकरण को दोबारा चलाने का आवेदन प्रस्तुत कर दिया था, लेकिन पेशी पर उपस्थित होने का नोटिस ऋतु के माता-पिता स्वीकार नहीं करते। ऋतु को भी प्रकरण दोबारा शुरू होने की जानकारी नहीं दी गई। वे यह कहकर नोटिस तामील नहीं करते कि उन्हें बेटी के बारे में जानकारी नहीं है। ऋतु उनके साथ नहीं रहती लेकिन उनके झूठ की पोल जैन समाज द्वारा सोमवार को निकाले गए जुलूस ने खोल दी है। जिसमें ऋतु और उसके माता-पिता मौजूद रहे। 

लौट आओ मां, हम अलग रहेंगे
ये गुहार है भेरूलाल और ऋतु के बेटे धरमेश की। उसने बताया ढाई साल पहले मां यह कहकर दिल्ली गई थी कि 15 दिन में लौट आऊंगी, लेकिन आज तक नहीं लौटी। मां बहुत याद आती है...कई बार नाना-नानी के पास जाकर बोला मिला दो मां से। लेकिन कहते हैं मां यहां नहीं है। आप बताओ अंकल बगैर मां के मैं कैसे रहूं, 10वीं में फेल हो गया हूं। ऐसा ही चलता रहा तो मैं कुछ कर लूंगा। अंकल आप ही बोलो न मेरी मां को उनका पापा से झगड़ा है तो रखे...वो बस लौट आए हम अलग घर ले लेंगे। मैं कुछ भी करके घर चलाऊंगा, प्लीज मुझे मेरी मां से मिला दो। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week