अतिथि शिक्षकों ने अर्थी सजाई, महिला अतिथियों ने उठाई | EMPLOYEE NEWS

Wednesday, February 7, 2018

दमोह। नियमितीकरण की मांग को लेकर शालाओं का बहिष्कार करके 1 सप्ताह से तहसील स्तर पर सरकार के खिलाफ शपथ लेकर प्रदर्शन करने वाले अतिथि शिक्षकों ने बुधवार को जिला मुख्यालय पर एकजुटता दिखाते हुए प्रभावी प्रदर्शन किया। पुरानी कलेक्ट्रेट के समीप नेहरू पार्क परिसर में एकत्रित हुए जिले के सभी ब्लॉकों के अतिथि शिक्षकों ने बैठक करके रणनीति बनाई।इसके बाद मध्यप्रदेश अतिथि शिक्षक संगठन समिति के बैनर तले अतिथियों ने एकजुटता के साथ आवाज उठाकर सरकार से केवल एक मांग नियमित करने गुहार लगाई।

अतिथि शिक्षकों ने अपनी दयनीय दशा की अर्थी सजाई जिसे महिला अतिथियों ने अपने कंधों पर उठाया, तथा इस शव यात्रा में अतिथि शिक्षक गण शोक स्वरूप  मौन रहकर कतारबद्ध सम्मिलित हुए। नेहरू पार्क से प्रारंभ हुई यह अनोखी शवयात्रा प्रमुख मार्गो से होते हुए शहर के हृदय स्थल घंटाघर पहुंची। जहां अल्प ठहराओ के बाद शव यात्रा रैली आंबेडकर चौक, कीर्ति स्तंभ, बेलाताल SP ऑफिस के सामने से महाराणा प्रताप चौक पहुंची। जहां कलेक्ट्रेट गेट के सामने दमोह जबलपुर हाईवे पर अतिथि शिक्षकों ने सड़क पर बैठकर धरना देते हुए जाम के हालात निर्मित कर दिए। 

बाद में SDM ने धरना स्थल पर पहुंच अतिथि शिक्षकों की मांगों का ज्ञापन लेकर इसे शासन तक पहुंचाने को आश्वस्त किया। अपने तरह के इस अनूठे शव यात्रा प्रदर्शन के जरिये अतिथि शिक्षकों ने प्रदेश सरकार कि भेदभावपूर्ण नीति का विरोध करते हुए नियमितीकरण की मांग को जल्द से जल्द पूरा किए जाने की मांग की। नियमितीकरण नहीं होने पर  मामा की सरकार के अंत की चेतावनी देने से प्रदर्शन कारी नहीं चूके। इस प्रदर्शन के दौरान रैली मार्ग से लेकर कलेक्ट्रेट तक पर्याप्त पुलिस व्यवस्था रहने से किसी प्रकार के कोई अप्रिय हालात निर्मित नहीं हुए। 

आपको बता दें इसके पूर्व में तहसील स्तर पर अतिथि शिक्षकों द्वारा बारी बारी से सरकार के खिलाफ शपथ लेकर प्रदर्शन ज्ञापन का दौर चलता रहा है वही इनके आंदोलन की वजह से परीक्षाओं के ठीक पहले शालाओं में अध्यापन कार्य ठप पड़ा हुआ है जिला स्तर की आंदोलन प्रदर्शन में अतिथि शिक्षक संगठन समिति के जिला अध्यक्ष चंद्रशेखर राय उपाध्यक्ष राघवेंद्र लोधी सचिव इमाम खान एवं संयोजक जितेंद्र ठाकुर जबेरा एवम समस्त ब्लॉकों के अतिथि शिक्षकों की उपस्थिति रही।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week