बेटियों के खाते में 2 लाख जमा कराएगी मोदी सरकार: योजना या घोटाला | MP NEWS

Friday, February 2, 2018

भोपाल। इन दिनों मध्यप्रदेश के ग्रामीण इलाकों में एक खबर तेजी से फैल रही है, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बेटियों को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना में बेटियों के खातों में सीधे 2 लाख रुपए जमा कराए जाएंगे। योजना के तहत 10 साल से 32 साल तक की बेटियां आवेदन कर सकतीं हैं। उन्हे एक फार्म भरकर रजिस्टर्ड डाक से भेजना है। फार्म की कीमत 300 रुपए है। इस योजना के लिए लोगों की भीड़ लगी हुई है। हजारों फार्म भेजे जा चुके हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि केंद्र सरकार की ऐसी कोई योजना है ही नहीं। यह महज एक अफवाह है। एक रैकेट इसका फायदा उठाकर फर्जी फार्म बेच रहा है। पुलिस के हाथ इस रैकेट की कॉलर तक नहीं पहुंच पाए हैं। 

बताया जा रहा है कि यह अफवाह हरियाणा से शुरू हुई और उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश से होकर अब मध्यप्रदेश तक पहुंच गई है। इसमें यूपी से सटे सीमावर्ती जिलों में हजारों लोगों ने फार्म भरकर भेजे हैं और लोगों ने फार्म भराने के नाम पर तीन सौ रुपए तक वसूले जा रहे हैं।कलेक्टरों ने महिला सशक्तिकरण व महिला एवं बाल विकास अधिकारियों को एफआईआर कराने के निर्देश देकर अपना कर्तव्य पूरा कर लिया है। पुलिस को कोई सूचना नहीं दी गई है। रैकेट की तलाश ही नहीं की जा रही है। 

विन्ध्य क्षेत्र के रीवा, सतना, सीधी समेत अन्य जिलों में इसकी अफवाह इतनी फैल गई है कि लोग 300 रुपए में फर्जी फार्म खरीदकर उसे भर रहे हैं और उसे रजिस्टर्ड डाक से दिल्ली भेज रहे हैं। इस मामले में केंद्रीय महिला एवं बाल विकास विभाग को सफाई तक देनी पड़ी है कि ऐसी कोई योजना नहीं है जिसमें बेटियों को अलग से दो लाख रुपए दिए जाने का प्रावधान किया जा रहा हो। सरकार बेटियों की पढ़ाई और सुरक्षा के लिए बजट में प्रावधान कर रही है।

डाक विभाग कमा रहा रजिस्ट्री का पैसा
इस मामले में डाक विभाग से रजिस्टर्ड डाक के माध्यम से फार्म भेजे जाने की अफवाह भी है। इसके चलते फार्म भरने वाले लोगों द्वारा डाक विभाग से रजिस्टर्ड डाक से फार्म भेजे जा रहे है। ऐसे हजारों मामले विन्ध्य के जिलों में सामने आ चुके हैं जो प्रदेश के बाकी जिलों तक पहुंच रहे हैं।

हर बेटी के नाम पर दो लाख की अफवाह
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के नाम पर फर्जी योजना शुरू करने और वालों ने एक फार्मेट तैयार करने के बाद यह अफवाह फैलाई कि दस साल से 32 साल तक की उम्र की बेटियों को केंद्र सरकार दो लाख रुपए देगी। इसके लिए दस रुपए से 300 रुपए में फार्म बेचने का काम किया जा रहा है। इसमें फार्म भरने वाले के फोटो, पता व अन्य जानकारी समेत अकाउंट नंबर भी भरवाए जाने का उल्लेख है।

--------------
यह सही है कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के नाम पर फर्जी फार्म भराए जा रहे हैं। केंद्र सरकार की ऐसी कोई योजना नहीं है। इसकी जानकारी सामने आने के बाद महिला सशक्तिकरण और महिला व बाल विकास अधिकारियों को ऐसे लोगों की तलाश कर एफआईआर कराने के लिए कहा है।
प्रीति मैथिल, कलेक्टर, रीवा

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week