मंत्री VIJAY SHAH के कारण उल्टा सूर्यनमस्कार, जेब में हाथ डालकर वंदेमातरम | MP NEWS

Friday, January 12, 2018

भोपाल। मध्यप्रदेश के शिक्षामंत्री विजय शाह और विवादों का चोली दामन का साथ हो गया है। इंदौर के चिमन बाग मैदान मंत्रीजी की उपस्थिति में सूर्यनमस्कार का आयोजन किया गया। मंत्रीजी को सूरज की धूप परेशान ना करे इसलिए सभी ने सूरज की तरफ पीठ करके सूर्यनमस्कार किया। इतना ही नहीं इस दौरान जब वंदेमातरम का गायन किया गया तो मंत्रीजी जेब में दोनों हाथ डालकर करते रहे। हिंदुओं के शास्त्रानुसार इसे भगवान सूर्य का अपमान कहते हैं। ग्रंथों में तो यहां तक लिखा है कि सूर्योदय के समय सूर्य की तरफ पीठ करके खड़े भी नहीं होना चाहिए। यह तो सूर्य नमस्कार था। 

राष्ट्रीय गीत के समय जेब में हाथ डाले खड़े रहे
स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर पर सामूहिक सूर्य नमस्कार कार्यक्रम में शामिल होने आए थे। यहां चिमनबाग मैदान पर आयोजित किये गए कार्यक्रम के दौरान सबसे पहले राष्ट्रीय गीत गायन हुआ। लेकिन हैरान कर देने वाली बात यह थी कि, राष्ट्रीय गीत का अपमान करते हुए विजय शाह जेब में हाथ डाले खड़े रहे, वहीं उनके साथ खड़े संभागायुक्त संजय दुबे, कलेक्टर निशांत वरवड़े और अन्य छात्र सावधान की मुद्रा में खड़े रहे।

सूर्य की तरफ पीठ करके सूर्य नमस्कार
विजय शाह की विवादस्पद स्थिति यही खत्म नहीं हुई। इसके बाद जब सूर्य नमस्कार आरंभ हुआ तो मंत्री ने सूर्य नमस्कार करने की दिशा ही बदलवा दी। जबकि सूर्य नमस्कार करने का महत्व सूर्य की तरफ मंंह करके योगासन करने का है, लेकिन मंत्री शाह की वजह से कार्यक्रम में शामिल कलेक्टर निशांत वरवड़े, संभागायुक्त संजय दुबे और जिला पंचायत सीईओ कीर्ति खुरासिया सहित अन्य अधिकारियों एवं उपस्थित गणमान्य नागरिकों को सूर्य की तरफ पीठ करके सूर्य नमस्कार करना पड़ा।

धूप लग रही थी इसलिए दिशा बदल दी: मंत्रीजी की दलील
लगभग आधे घंटे से अधिक चले पूरे कार्यक्रम में मंत्री और अधिकारियों ने विपरीत दिशा में सूर्य को नमस्कार किया। जबकि बच्चों ने सूर्य की ओर सही दिशा में ही सूर्यनमस्कार किया। इस मामले में जब मंत्री महोदय से सवाल किया गया, तो उनका तर्क था कि सूर्य नमस्कार किसी भी दिशा में किया जा सकता है, धूप अधिक लगने के कारण दिशा बदली थी। बता दें कि इससे पहले एक बड़े सरकारी कार्यक्रम में स्कूली बच्चों से वेटर का काम करवाने पर मंत्रीजी ने कहा था कि इससे बच्चों को अतिथि सत्कार की शिक्षा मिलेगी। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week