PANNA किडनैपिंग कांड: लड़की को ले दर्जन भर जिलों से गुजरे डकैत, सैंकड़ों चैकपोस्ट पार किए | CRIME NEWS

Wednesday, January 31, 2018

संदीप विश्वकर्मा/पन्ना। मप्र के पन्ना जिले से हुए अब तक का सबसे सनसनीखेज किडनैपिंग कांड में अपहृत लड़की को मुक्त करा लिया गया है परंतु मास्टरमाइंड अब भी फरार है। चौंकाने वाली बात तो यह है कि जिस वाहन में अपहृत लड़की को बंधक बनाकर ले लाया गया वो दमोह, सागर, भोपाल, इंदौर, गुना होते हुए शिवपुरी तक पहुंचा परंतु कहीं किसी चैकपोस्ट पर उसे पकड़ा नहीं जा सका। बदमाश लड़की को लेकर आगरा, दिल्ली और टीकमगढ़ भी गया। जबकि पुलिस हेलीकॉप्टर से सागर के जंगलों में सर्चिंग कर रही थी। पुलिस के दवाब और धरपकड़ के कारण बदमाश ने लड़की को टीकमगढ़ जिले के बल्देवगढ़ में रिहा किया फरार हो गया। पुलिस ने लड़की को अपनी सुरक्षा में ले लिया है परंतु अभी तक पुलिस को यह पता नहीं चल पाया है कि अपहरण क्यों किया गया था। फरार बदमाश का नाम देवराज सिंह है। 

पुलिस के FRV वाहन से किया था अपहरण
यह मप्र का सबसे सनसनीखेज अपहरण कांड था। घटना थाना अमानगंज क्षेत्र के ग्राम टाँई की है। रात्रि 12:36 मिनट पर डायल 100 को एक कॉल आया कि ग्राम टाँई में कुछ लोग शराब पीकर लड़ झगड़ रहे है। डायल 100 तुरंत ही टाँई के लिए रवाना हो गयी जिसमे डायल 100 के ड्राइवर शराफत खान, प्रधान आरक्षक प्रकाश मण्डल और SF सुभाष दुबे SI ड्यूटी पर थे। डायल 100 को किसी राजू नाम के शख्स ने कॉल किया था। ग्राम टाँई पहुंच कर देखा कि एक व्यक्ति जमीन की तरफ उल्टा लेटा हुआ है। जिसको सीधा करने की कोशिश की तो आरोपी ने तुरंत ही कट्टा निकालकर प्रधान आरक्षक प्रकाश मंडल के सिर पर कट्टा तान दिया और नजदीक खड़े दो युवकों ने ड्राइवर और SF जवान को कट्टा तान कर बंधक बना लिया। 

लड़की के घर जाकर उसके पिता को बुलाया
उनके चेहरे को कपड़े से बांध दिया और हाथ पैर बांध कर तीनों को डायल 100 गाड़ी पर बैठा कर वहां से रवाना हो गए। लगभग कुछ समय के चलने के बाद गाड़ी एक अनजान जगह पर रुकी जिससे तीनों को उतार कर एक अन्य दूसरी गाड़ी में बिठा दिया गया और वापस पुलिस की वर्दी में ग्राम बमुरहा राजकुमार पटेल के यहां पहुंचे और आवाज़ लगाई कि तुम ने डायल 100 पर कॉल किया था। तुम्हें टीआई साहब ने बुलाया है। 

पिता के साथ लड़की को बिठाया और बंधक बना लिया
यह सुनकर के राजकुमार पटेल अपने छत पर आकर देखा कि दरवाजे के बाहर डायल 100 गाड़ी खड़ी हुई है और दो पुलिस वाले उनको अपने साथ चलने को कह रहे हैं। उन्होंने राजकुमार पटेल की लड़की जिसकी उम्र 18 वर्ष है, नाम नीरजल है एवं उनके एक रिश्तेदार को गाड़ी में बैठाया और कट्टा अड़ाकर बंधक बना लिया। सभी के चेहरे पर कपड़ा बांधकर कुछ दूरी तक ले गए एवं यहां-वहां घुमाने के बाद लड़की के पिता एवं उनके ही एक रिश्तेदार को गाड़ी से बाहर धक्का दे दिया। लड़की को लेकर फरार हो गए। 

पुलिस को एफआरवी वाहन लौटाया और बोलेरो से फरार हो गए
फिर बदमाश डायल 100 और अपहृत युवती को लेकर वहां पहुंचे जहां पुलिस टीम को टीम को बंधक बनाया था। यहां उन्होंने पुलिस को वर्दी व वाहन वापस लौटाया और दूसरी गाड़ी से फरार हो गए। बताया जा रहा है कि वो जिस वाहन से फरार हुए, कोई एसयूवी है। युवती के परिवारजन इतनी दहशत में हैं कि वो कोई भी बयान देने को तैयार नहीं पूरे इलाके में पुलिस की धमचक चल रही है। लोगों में दहशत पसरी हुई है। 

लड़की के साथ आधे भारत में घूमता रहा बदमाश
बदमाशों ने लड़की को किडनैप कर आधे भारत का चक्कर लगाया। वो मप्र के दमोह, सागर, भोपाल, इंदौर, गुना, शिवपुरी एवं अशोकनगर जिले की सीमाओं से गुजरते हुए टीकमगढ़ पहुंचे परंतु किसी चैकपोस्ट पर उन्हे रोका नहीं जा सका। टीकमगढ से झांसी, ग्वालियर, आगरा होते हुए दिल्ली पहुंचा परंतु पुलिस उसे ट्रेस नहीं कर पाई। पुलिस हेलीकॉप्टर लेकर सागर के जंगलों में सर्चिंग कर रही थी। 

पहले भी 2 बार की थी किडनैपिंग की कोशिश
पुलिस ने सबसे पहले धर्मेन्द्र सिंह पिता प्रेम सिंह राजपूत, निवासी कुलवाकला थाना हटा जिला दमोह को हिरासत में लिया। पूछताछ में पता चला कि बदमाशों द्वारा पूर्व में भी दो लड़की को किडनैप करने की कोशिश की थी। पहली बार दिनांक 18.01.2018 थाना गुनौर के डायल 100 वाहन को इनके द्वारा सूचना दी गयी किन्तु डायल 100 वाहन की जगह 108 पहुंचा। दूसरी बार दिनांक 27.01.2018 को थाना पवई डायल 100 वाहन को इनके द्वारा घटना की सूचना दी गयी किन्तु डायल 100 ड्युटी के कर्मचारी जिस नंबर से फोन किया गया था उस कालर व्यक्ति को जानते थे, पुलिस ने सीधे फोन करने वाले को मोबाइल पर ले लिया। घबराए बदमाशों ने फोन बंद कर लिया। 

फुलप्रूफ प्लानिंग थी, बांधने के लिए रस्सी भी बाजार से खरीदी थी
आरोपी से पूछताछ पर यह तथ्य भी प्रकाश में आया कि पूर्व में आरोपी देवराज सिंह द्वारा आरोपियों को पचास-पचास हजार रू0 कर्जा दिया गया जो डेढ लाख रूपय बाद में देने की बात तय थी। बदमाशों द्वारा पुलिस की वर्दी छोटू टेलर, पथरिया, जिला दमोह से तथा पथरिया में भूमि मोबाईल के सामने की दुकान से खाकी वर्दी का कपड़ा एक हजार रू0 में खरीदा गया था। तथा बजरिया में आनंद खुराना की दुकान से पुलिस जर्किन तथा पेट्रोल पम्प हटा के सामने की दुकान से नायलोन की रस्सी खरीदी गयी थी। इस घटना में पांच बदमाश शामिल थे तथा इस घटना में अन्य व्यक्तियों के भी नाम शामिल होने के तथ्य प्रकाश में आये है। 

इन लोगों को किया गया गिरफ्तार
प्रकरण में विशेष दल द्वारा आरोपी रक्कू उर्फ राजेश रैकवार पिता भवानी रैकवार, उम्र 29 वर्ष, निवासी लखरौनी, आरोपी राजेश सिंह पिता खुमान सिंह, उम्र 28 वर्ष, निवासी टीला, थाना पथरिया एवं आरोपी हेमराज कुर्मी पिता मुरलीधर कुर्मी, उम्र 24 वर्ष, निवासी मिर्जापुर, थाना पथरिया को गिरफ्तार कर इनके कब्जे से घटना में प्रयुक्त बुलोरों वाहन एम0पी0 35-सी0ए0-2182 तथा एक पिस्टल, एक 315 बोर का कट्टा एवं 07 जिन्दा कारतूस, मोबाईल फोन एवं अन्य प्रयुक्त सामग्री जप्त की गयी है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week