दीवार पर लिखा सुसाइड नोट, कारोबारी फांसी पर झूल गया | BUSINESS NEWS

Monday, January 8, 2018

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में एक कारोबारी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत का मामला सामने आया है। BUSINESSMEN की लाश पंखे पर झूलती मिली। दीवार पर सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें उसने अपने बिजनेस पार्टनर को अपनी मौत का जिम्मेदारी ठहराया है। घटना दिल्ली के पीरागढ़ी में मियांवाली नगर इलाके की है। मियांवाली थाना पुलिस ने सुसाइड नोट में जिम्मेदार ठहराए गए मृतक कारोबारी के BUSINESS PARTNER के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है। हालांकि पुलिस ने उसे अब तक गिरफ्तार नहीं किया है।

पुलिस ने मृतक की पहचान 52 वर्षीय रमेश के रूप में की है। वह अपने बिजनेस पार्टनर मनोज कुमार के साथ एक BANQUET HALL चलाता था। पुलिस ने बताया कि मियांवाली नगर थाना इलाके में बीते गुरुवार को कारोबारी का शव बैंक्वेट हॉल के कमरे में पंखे से लटकता मिला। मृतक कारोबारी ने कमरे की दीवार पर एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें अपनी मौत का जिम्मेदार अपने बिजनेस पार्टनर मनोज गोयल को ठहराया है। मृतक अपने परिवार के साथ टैगोर पार्क न्यू मॉडल टाउन इलाके में रहते थे।

मृतक कारोबारी रमेश ने मनोज गोयल के साथ पार्टनरशिप में कई बैंक्वेट हॉल खोल रखे थे। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, रमेश ने गुरुवार को अपराह्न करीब 3.0 बजे पीरागढ़ी स्थित बैंक्वेट हॉल मेडेन्स क्राउन बैंक्वेट हॉल' के एक कमरे में सुसाइड कर लिया।

कुछ देर बाद कमरे में पहुंचे एक कर्मचारी ने पंखे से चादर के सहारे लटका रमेश का शव देखा और रमेश के परिजनों और पुलिस को मामले की सूचना दी। कर्मचारियों ने मिलकर रमेश के शव को उतारा और अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

अस्पताल से सूचना मिलने के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू की। पुलिस ने बताया कि रमेश ने दीवार पर एक लाइन का सुसाइड नोट छोड़ा है, जिसमें उसने लिखा है 'मुझे मनोज गोयल ने मारा है'।

रमेश ने एक और सुसाइड नोट मौके पर छोड़ा है, जिसमें उसने मनोज गोयल पर मेडेंस क्राउन बैंक्वेट हॉल व ड्रीम बैंक्वेट हॉल की खरीद में करोड़ों रुपए का घोटाला करने का आरोप लगाया है। रमेश ने यह भी लिखा है कि पिछले ढाई साल से मनोज उसे टार्चर कर रहा था और इसीलिए वह खुदकुशी कर रहा है।

दूसरी सुसाइड नोट में रमेश ने अपनी मौत का जिम्मेदार सिर्फ और सिर्फ मनोज का ठहराया है। फिलहाल पुलिस ने पोस्टमार्टम कराने के बाद रमेश का शव परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस मामले की कई एंगल से जांच कर रही है। साथ ही पुलिस मृतक रमेश और मनोज गोयल के खातों और बैंक्वेट हॉल से जुड़े दस्तावेजों की जांच कर रही है और बैंक्वेट हॉल के कर्मचारियों से पूछताछ की जा रही है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week