ADG ने अपनी महिला मित्र से शादी करा दी, कई झूठे केस लाद दिए: बर्खास्त SI का आरोप | MP CRIME NEWS

Friday, January 26, 2018

भोपाल। कई थानों में आपराधिक रिकॉर्ड वाले मप्र पुलिस के बर्खास्त सब इंस्पेक्टर अमिताभ प्रताप सिंह ने एडीजी राजेन्द्र कुमार मिश्रा पर उसकी जिंदगी बर्बाद कर देने का आरोप लगाया गया। सीएम शिवराज सिंह को की गई एक कथित शिकायत में एसआई ने आरोप लगाया है कि एडीजी ने अपनी महिला मित्र को अनाथ भतीजी बताकर उससे शादी करवा दी और जब उसे दोनों के बारे में पता चला तो उसके खिलाफ कई झूठे केस लाद दिए गए। एसआई ने सवाल किया कि क्या कारण कि 37 साल तक मेरा कोई क्राइम रिकॉर्ड नहीं था और अब कई संगीन मामले हैं, जिनमें से कई में वो दोषमुक्त हो चुका है। 

सब इंस्पेक्टर अमिताभ प्रताप सिंह को इंदौर में हत्या के दो मामले समेत तीन मामलों में आरोपी बनाया गया था। कोर्ट से तीनों ही प्रकरण में दोषमुक्त होने के बाद भी वर्ष 2010 में अमिताभ को बर्खास्त कर दिया था। अब अमिताभ ने मुख्यमंत्री से शिकायत की है। उन्होंने आरोप लगाए कि एडीजी राजेंद्र कुमार मिश्रा ने एक युवती को अपनी अनाथ भतीजी बताकर उससे मेरी शादी कराई थी। शादी के तीन साल बाद मुझे मेरी पत्नी का असली नाम पता चला। वह पहले ही एक पति को तलाक दे चुकी थी। 

वर्ष 2009 में मैंने दोनों को आपत्तिजनक हालत में पकड़ा था, लेकिन गोविंदपुरा पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया। इसके 15 दिन बाद ही मेरा ट्रांसफर बालाघाट कर दिया गया। मैं पत्नी को साथ रखना चाहता था, लेकिन एडीजी मिश्रा ने मेरी पत्नी से ही मेरे खिलाफ सीहोर में दहेज प्रताड़ना का मामला दर्ज कराया। इसमें कोर्ट के आदेश पर खात्मा लग गया। इसके बाद कमला नगर पुलिस ने मेरे खिलाफ दहेज प्रताड़ना का मामला दर्ज किया। कमला नगर में अन्य मामले भी दर्ज हैं। एडीजी के दबाव में 2014 में क्राइम ब्रांच ने पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप में हिरासत में लिया था, लेकिन तीन दिन बाद योजना के तहत वहां से भगा दिया गया। उसके बाद मुझ पर दुष्कर्म का मामला दर्ज कर दिया। इस मामले में भी कोर्ट ने बरी किया। 

रातीबड़ और जहांगीराबाद थाने में मुझ पर मामला दर्ज किया गया। भोपाल पुलिस ने पांच हजार रुपए का इनाम घोषित किया है। इधर मप्र राज्य महिला आयोग ने आयोग की फर्जी सील का दुरुपयोग करने के मामले में एसआई की पत्नी पर एफआईआर दर्ज करने के निर्देश श्यामला हिल्स पुलिस को दिए हैं। अमिताभ का कहना है कि 37 साल की उम्र में मेरा आपराधिक रिकाॅर्ड नहीं था, ऐसा क्या हुआ जो सब इंस्पेक्टर बनने के बाद मेरे खिलाफ एफआईआर होने लगी।

एजीडी बोले- अभी छुट्टी पर हूं, वापस आने के बाद बात करूंगा
एडीजी राजेंद्र कुमार मिश्रा से जब मोबाइल पर बात कर उन्हें बताया गया कि अमिताभ प्रताप सिंह ने आपके खिलाफ शिकायत की है कि आपके दबाव में पुलिस एफआईआर कर रही है। उनका कहना था कि अभी वे एक महीने की छुट्टी पर हैं, वापस आने के बाद इस संबंध में बात करेंगे।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week