मप्र के पुलिस अधिकारियों ने मृत साथी की मदद के लिए 5.50 लाख जुटाए | MP NEWS

Sunday, January 7, 2018

भोपाल। शाहपुर-डिंडोरी जिले के करंजिया थाने मे पदस्थ थाना प्रभारी मुकेश पंद्रे की सड़क दुघर्टना मे मौत से 2007 सब इंसपेक्टर बैच के पुलिस अधिकारी इतने दुखी हुये की सभी बैच साथियों ने मिलकर पीड़ित परिवार की मदद के लिये वाटसप ग्रुप पर सहमति बनाकर पीड़ित परिवार को आर्थिक सहयोग करने की जिम्मेदारी ली और देखते ही देखते बैच के 139 थाना प्रभारियों ने मिलकर रविवार तक लगभग 5.50 लाख रूपये की राशि एकत्र कर ली। शाहपुर थाना प्रभारी राजेन्द्र धुवें के द्वारा अपने 2007 बैच के साथियों के साथ मिलकर की गई पहल प्रदेश के सभी कर्मचारियों के लिये अनुकरणीय हैं। 

घटनाक्रम के अनुसार 1 जनवरी की शाम को करजिया थाना प्रभारी मुकेश पंद्रे अपने परिवार को ग्रह ग्राम मंडला जिले के मवई छोड़कर वापस अपनी डियूटी पर लौट रहे थे। इस दौरान मवई थाने के भुरकी ग्राम के समीप एक पिकअप वाहन ने उन्हें टक्कर मार दी थी। जिस पर थाना प्रभारी मुकेश पंद्रे की मौके पर ही मौत हो गई थी। 2007 सब इंसपेक्टर बैच के साथियों को यह दुखद घटना मिली तो सभी साथियों ने अपना दुख प्रगट करते हुये पीड़ित परिवार की सहायता के लिये अपने वाटसप ग्रुप पर अपील के माध्यम जनराय लेकर एकजुटता का परिचय देते हुये आर्थिक मदद का जिम्मा उठाया। 

सभी पुलिस अधिकारियों ने अपने अपने स्तर से सहयोग राशि देकर पीड़ित परिवार के लिये जो मदद की है। वह सभी के लिये अनुकरणीय एवं सराहनीय पहल है। शाहपुर थाना प्रभारी राजेन्द्र धुवें ने बताया की 2007 सब इंसपेक्टर बैच के पुलिस अधिकारी हर जिले मे अपनी सेवाएँ दे रहे हैं। वहीं बैतूल जिले के मुलताई चिचोली कोतवाली गंज शाहपुर थाने मे भी इसी बैच के पुलिस अधिकारी पदस्थ हैं। बैतूल जिले के भी सभी पुलिस अधिकारियों ने अपनी तरफ से सहयोग राशि देकर पीड़ित परिवार की मदद के लिये सहयोग किया है। 

अब तक 160 पुलिस अधिकारियों ने अपना सहयोग आर्थिक मदद के तौर पर पीड़ित परिवार को देकर एक मिशाल कायम की है। थाना प्रभारी राजेन्द्र धुवें ने बताया की मृतक थाना प्रभारी मुकेश पंद्रे अपने पीछे पत्नी एक सात वर्षीय पुत्र छोड़ गये हैं ऐसे मे पीड़ित परिवार के दुखों का अंदाज़ा लगाना मुश्किल है। इसलिए हम सभी साथियों ने मिलकर यह निर्णय लिया की हम क्यों ना दुख की इस घड़ी मे अपना योगदान देकर उन्हें मदद करे। थाना प्रभारी राजेन्द्र धुवे का कहना हैं हम सभी को दुखों की घड़ी मे अपने साथियों की मदद के लिये आगे आना भी एक तरह की समाज सेवा है। 

2007 बैच के पुलिस अधिकारियों द्वारा की गई धनराशि को मृतक थाना प्रभारी मुकेश पंद्रे की पत्नी रितु पंद्रे के बैंक एकाउंट मे जमा की गई है। वहीं पुलिस अधिकारियों द्वारा की गई उक्त पहल की बैतूल पुलिस अधीक्षक डीआर तैनीवार ने प्रंशसा करते हुए कहा कि हमारे पुलिस अधिकारियों द्वारा जिस तरह से अपने साथी अधिकारी के परिवार के दुखों मे शरीक होकर पहल की गई वह सभी पुलिस अधिकारियों के लिये अनुकरणीय पहल हैं हमे गर्व हैं की हमारे जांबाज पुलिस अधिकारियों ने मृतक पुलिस अधिकारी के परिवार के दुखों का अहसास कर अपनी तरफ से यथासंभव मदद की हैं हमारे सभी पुलिस अधिकारियों की पहल सभी के लिये एक प्रेरणादायक है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week