ब्लूटूथ से ईवीएम: कांग्रेसी हंगामे की पोल खुली, वो मशीन नहीं मोबाइल था | NATIONAL NEWS

Saturday, December 9, 2017

नई दिल्ली। ईवीएम की साइबर सिक्योरिटी को लेकर बड़ा आरोप लगाया गया था। दावा किया गया है कि ईवीएम मशीन ब्लूटूथ से कनेक्ट हो रही है। शाम होते होते कांग्रेस के इस दावे की पोल खुल गई। पता चला है कि ECO 105 नाम की डिवाइस ईवीएम मशीन नहीं बल्कि एक बसपा नेता का मोबाइल फोन है। यह दावा चुनाव आयोग ने किया है। बता दें कि ECO का अर्थ इलेक्शन कमीशन आॅफिस माना गया था और 105 मशीन का कोड। 

गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान के दौरान यह खबरें आई थीं पोरबंदर जिले के ठक्कर प्लॉट बूथ का ईवीएम ब्लूटूथ से कनेक्ट हो रहा है। कांग्रेस नेता अर्जुन मोढवाडिया ने कहा था कि ब्लूटूथ से ईवीएम कनेक्ट किया जा सकता है। मोढवाडिया ने इससे जुड़ा एक स्क्रीनशॉट भी जारी किया। इस स्क्रीनशॉट में लिखा था कि आपका फोन एक नजदीकी डिवाइस के पास है। मोढवाडिया ने इस स्क्रीनशॉट को चुनाव आयोग को भेजा था। जिसके बाद चुनाव आयोग ने आनन-फानन में जांच के आदेश दिए। 

अब इस मामले में अब खबरें आ रही हैं कि फोन पर ईवीएम नहीं बल्कि किसी दूसरी डिवाइस का कोड आ रहा था। एबीपी की रिपोर्ट के मुताबिक मोढवाडिया के फोन पर ईवीएम नहीं बल्कि इंटेक्स ECO 105 फोन का ब्लूटूथ कनेक्ट हो रहा था। वरिष्ठ पत्रकार जनक देव ने का कहना है कि पोरबंदर में ईवीएम को हैक होने के आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है। चुनाव आयोग ने इस बात का दावा किया है। उन्होंने कहा है कि ईवीएम हैकिंग की कोई संभावना नहीं है, बल्कि कांग्रेसी लीडर का फोन BSP के पोलिंग एजेंट मनोज सिंगराखिया के मोबाइल के WiFi ECO 105 का सिग्नल ले रहा था।

आपको बता दें कि मोढवाडिया के आरोपों के बाद इस मामले में चुनाव आयोग ने आनन-फानन में जांच के आदेश दिए। मोढवाडिया ने कहा था कि हमने तीन EVM को चेक किया, ये तीनों EVM ब्लूटूथ के जरिये कनेक्ट हो सकते हैं। जब आप अपने मोबाइल फोन का ब्लूटूथ ऑन करते हैं तो एक डिवाइस ECO दिखता है। ये बेहद गंभीर मामला है, मैंने इसका स्क्रीनशॉट लिया है और चुनाव आयोग से शिकायत दर्ज की है। मोढवाडिया ने इस बावत गंभीर चिंता जताई है। इस शिकायत के बाद चुनाव आयोग के इंजीनियर्स ने पहुंचकर मामले की तहकीकात की। 

छानबीन करने वाले आयोग के इंजीनियर एस आनंद ने मीडिया से बातचीत में कहा कि अगर कोई व्यक्ति अपने मोबाइल डिवाइस का नाम इको रख ले और उसे ऑन कर दे, उसी वक्त अगर आपके मोबाइल में भी ब्लूटूथ ऑन होगा तो वो सीधे कनेक्ट नहीं होगा लेकिन आपके मोबाइल में शो करेगा कि इको आपकी पहुंच में है, कनेक्ट हो सकता है। बता दें कि शनिवार को गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए मतदान हुआ।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week