चाणक्य सर्वे: गुजरात में कांग्रेस की बड़ी जीत का दावा, सच या भ्रम | NATIONAL NEWS

Monday, December 11, 2017

नई दिल्ली। गुजरात में काग्रेस, भाजपा पर भाजपा के हथियारों से हमला कर रही है। 2014 के लोकसभा चुनावों जिस तरह भाजपा की तरफ से कुछ भ्रमपूर्ण सर्वे प्रस्तुत किए गए थे, ठीक वैसे ही गुजरात में कांग्रेस ने किए हैं। भारत की सबसे भरोसेमंद चुनाव सर्वे ऐजेंसी टुडेज चाणक्य के नाम का फायदा उठाते हुए कांग्रेस ने दावा किया कि वो गुजरात के पहले चरण में भारी अंतर से जीत रही है। सर्वे ऐजेंसी टुडेज चाणक्य ने ऐसे किसी भी सर्वे से इंकार किया। भाजपा ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने फर्जी ​सर्वे रिपोर्ट जारी की है जबकि कांग्रेस का कहना है कि यह सर्वे रिपोर्ट सर्वे ऐजेंसी टुडेज चाणक्य की नहीं बल्कि चाणक्य इंडिया डॉट इन की है। 

कांग्रेस की गुजरात आईटी सेल के चेयरमैन रोहन गुप्ता की ओर से ट्वीट किए गए एक सर्वे में कहा गया था कि गुजरात में पहले चरण की सीटों पर हुए मतदान में कांग्रेस बड़े अंतर से जीत रही है। इस पर टुडेज चाणक्य ने आपत्ति जताई और कहा कि ऐसा कोई सर्वे उसकी ओर से जारी नहीं किया गया है। बीजेपी समर्थकों का कहना है कि कांग्रेस टुडेज चाणक्य के नाम पर वोटरों को भ्रमित करने की कोशिश में थी। 

ये टुडेज चाणक्य नहीं चाणक्य इंडिया का पोल है
इसके बाद रोहन ने एजेंसी को ट्विटर पर सफाई देते हुए लिखा, 'गुजरात कांग्रेस आईटी सेल ने पोर्ट चाणक्य इंडिया डॉट इन के साथ ऑनलाइन पोल किया है। इसका टुडेज चाणक्य से कोई संबंध नहीं है।' असल में दोनों के नाम में चाणक्य होने के चलते यह भ्रम पैदा हुआ था और सोशल मीडिया पर टुडेज चाणक्य के नाम पर ही लोग इस सर्वे को शेयर कर रहे थे, जिसके बाद सर्वे एजेंसी ने बताया कि ऐसा कोई सर्वे उसकी ओर से नहीं किया गया था। 

इसके अलावा भ्रम की एक वजह यह भी थी कि कांग्रेस नेता की ओर से शेयर किए गए इस सर्वे में दावा किया गया था कि सबसे विश्वसनीय सर्वे है। दिल्ली विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव नतीजों से पहले टुडेज चाणक्य के सर्वे लगभग परिणाम के आसपास रहे थे। ऐसे में यहां सबसे विश्वसनीय सर्वे कहे जाने पर लोग इसे टुडेज चाणक्य का ही सर्वे मान रहे थे। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week