गुजरात तो हम हार चुके थे यदि मोदी नहीं आते: बाबूलाल गौर | MP NEWS

Monday, December 25, 2017

भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने कहा कि यदि समय रहते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात प्रचार की कमान ना संभालते तो भाजपा चुनाव हार जाती। पूर्व मुख्यमंत्री का कहना है कि जिस तरह का माहौल इस बार गुजरात चुनाव में देखने को मिला इससे पहले इस तरह का माहौल वहां पर कभी भी नहीं रहा था। भाजपा की 5 बार सरकार बन चुकी थी और उस समय गुजरात की कमान नरेंद्र मोदी के हाथ में हुआ करती थी। छठवीं बार गुजरात चुनाव में सरकार के खिलाफ एंटी इनकंबेंसी का माहौल रहा। उन्होंने कहा कि गुजरात में पटेल समाज ने आरक्षण की मांग शुरु कर दी। 

साथ ही पाटीदार समाज ने भी एकजुट होकर सरकार के खिलाफ माहौल बनाया। इन लोगों ने सोचा कि मोदी जी तो अब गुजरात में आएंगे नहीं इसलिए उन्होंने कांग्रेस को सपोर्ट कर सरकार बनाने की रणनीति तैयार की। यदि नरेंद्र मोदी चुनाव के आखिर में 10-12 दिन गुजरात में प्रचार की कमान नहीं संभालते तो गुजरात में भारतीय जनता पार्टी की सरकार नहीं बनती। 

पूर्व मुख्यमंत्री का कहना है कि गुजरात में भारतीय जनता पार्टी का वोट ही नहीं बढ़ पाता, क्योंकि गुजरात के ग्रामीण क्षेत्रों में भाजपा सरकार को समर्थन नहीं मिल रहा था लेकिन शहरों में समर्थन प्राप्त हो रहा था। यह समर्थन नरेंद्र मोदी की ईमानदारी और व्यक्तित्व के कारण मिल रहा था और यह जीत नरेंद्र मोदी जी के खाते में जाएगी।

गौर ने कहा कि जातिवाद की वजह से पाटीदार समाज के लोग अलग हो गए अनुसूचित जाति के लोग अलग हो गए ग्रामीण क्षेत्र के लोग अलग हो गए। उन्होंने कहा कि जीएसटी और नोटबंदी का मामला भी एक मुद्दा था। यह सभी मामले एक साथ हमारी सरकार के विरोध में खड़े हो गए। गुजरात का व्यापारी, मजदूर और किसान भी सरकार के खिलाफ हो गया  लेकिन ऐसे समय पर नैया को पार लगाना केवल नरेंद्र मोदी के हाथ में था।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week