कृषि मंत्री के खेत में सरकारी बांध से अवैध सिंचाई, विधानसभा में गूंजा मामला | MP NEWS

Monday, December 4, 2017

भोपाल। मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार में कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन पर निर्दलीय विधायक दिनेश राय मुनमुन ने खुला आरोप लगाया है कि वो अपनी निजी जमीन पर पेंच परियोजना के मातागौरा बांध से अवैध रूप से पानी लेकर सिंचाई कर रहे हैं। अपने आरोप के समर्थन में उन्होंने ऐलान किया कि यदि उनका आरोप गलत निकला तो वो इस्तीफा दे देंगे, नहीं तो कृषि मंत्री इस्तीफा दे दें। 

विधानसभा में निर्दलीय विधायक दिनेश राय मुनमुन ने मंत्री गौरीशंकर बिसेन पर आरोप लगाया कि वे अपने प्रभाव और दबाव का इस्तेमाल कर पेंच परियोजना के मातागौरा बांध के पानी से अपनी निजी जमीन पर सिंचाई कर रहे हैं और उनके सिवनी जिले लालमाटी के कई गांव सिंचाई से वंचित हैं। दिनेश राय ने मंत्री के इंकार पर विधायक ने उन पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए कहा कि उनकी बात गलत निकली तो वे सदन से इस्तीफा दे देंगे या फिर मंत्री इस्तीफा दें। वे गर्भगृह में आ गए और इस संबंध में अखबारों की कटिंग भी पटल पर रखने की मांग की। 

राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने कहा कि इस बांध से 55 फीसदी पानी सिवनी को और 45 प्रतिशत पानी बालाघाट जिले को मिल रहा है। तकनीकी कारणों से लालमाटी क्षेत्र को पानी नहीं दिया जा सकता। दिनेश राय ने इस परियोजना में हुए सर्वे में सर्वे करने वाली मेंटाना कंपनी पर भी भारी भ्रष्टाचार का आरोप लगाया। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि मामला गंभीर है, मंत्री गोलमोल जबाव दे रहे हैं। अजयसिंह ने कहा कि मेंटाना कंपनी को उच्च अधिकारियों का संरक्षण प्राप्त है, उसने कहीं भी काम पूरा नहीं किया है।

पंकज अग्रवाल ने किया मोटा भ्रष्टाचार
सदन के बाहर पत्रकारों से चर्चा में दिनेश राय मुनमुन ने आरोप लगाया कि इस इलाके में मेंटाना कंपनी ने सर्वे किया था। इस सर्वे में विभाग के प्रमुख सचिव पंकज अग्रवाल ने मोटा भ्रष्टाचार किया है। सर्वे के नाम पर 86 करोड़ रूपए खर्च कर दिए गए पर नतीजा कुछ नहीं निकला।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं