कांग्रेसी विधायक के भतीजे की बारात में फंसी एंबुलेंस, बच्ची की मौत | MP NEWS

Wednesday, December 6, 2017

भोपाल। मप्र के दमोह जिले में कांग्रेस विधायक एवं पूर्व मंत्री मुकेश नायक के भतीजे की बारात में फंसी ऐंबुलेंस को 40 मिनट तक जाम में फंसाकर रखा गया। बारातियों के अलावा ट्रेफिक पुलिस ने भी एंबुलेंस को रास्ता नहीं दिया। एंबुलेंस में 4 साल की मासूम बच्ची तड़प रही थी। एंबुलेंस ड्राइवर और बच्ची के परिजनों ने हाथ जोड़कर रास्ता मांगा लेकिन ना तो बारातियों ने उनकी बात सुनी और ना ही वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने। रास्ता मिलने के बाद अस्पताल पहुंची बच्ची को मृत घोषित कर दिया गया। 

क्या हुआ घटनाक्रम
जानकारी के अनुसार सोमवार की शाम 7 बजे आंगन में खेल रही मासूम भूमि को बिच्छू ने काट लिया था। अचानक परिवार वालों को उसके रोने की आवाज आई तो वे तत्काल मौके पर पहुंचे। उन्होंने देखा कि भूमि को बिच्छू ने काट लिया है। इसके बाद उसके पिता ने तत्काल ही बिच्छू को मार दिया और भूमि को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पथरिया लेकर पहुंचे। भूमि की हालत काफी खराब होती जा रही थी, जिसकी वजर से उसे दमोह रेफर कर दिया गया।

हाथ जोड़कर पिता ने बरातियों से मांगा था रास्ता
परिजन 108 एंबुलेंस से दमोह के लिए रवाना हुए। लेकिन, दमोह में जैसे ही वह ओवर ब्रिज से आगे घंटाघर की ओर बढ़े, उसी समय एंबुलेंस के पहिए थम गए। क्योंकि वहां पर आशीर्वाद मैरिज गार्डन के सामने मुख्य सड़क पर बारात निकल रही थी। एंबुलेंस चालक धनीराम यादव भूमि के चाचा गुंजन ने वहां मौजूद यातायात पुलिस एवं बारातियों के हाथ पैर जोड़े और एंबुलेंस को रास्ता देने की गुहार लगाई, लेकिन किसी ने भी उसकी नहीं सुनी।

विधायक के भतीजे की थी शादी
यह बरात पवई विधायक मुकेश नायक के भतीजे की थी। करीब 40 मिनट बाद जैसे-तैसे वाहन जिला अस्पताल पहुंचा, तो डॉक्टरों ने भूमि को मृत घोषित कर दिया था। 

पुलिस कर रही है लीपापोती
अब पुलिस मामले में लीपापोती कर रही है। एसपी विवेक अग्रवाल का कहना है कि उन्होंने कुछ दिन पहले ही बैंड पार्टी और डीजे संचालकों की बैठक की थी, उन्हें समझाइश दी गई थी, रोड पर आम जनता को किसी तरह की परेशानी नहीं होना चाहिए। लेकिन, इस बात का ध्यान नहीं रखा गया। उन्होंने बताया कि इस मामले में बैंड पार्टी, डीजे संचालक और बरातियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी। उन्होंने सीएसपी आर. राजन और कोतवाली टीआई प्रदीप सोनी को जांच करके तीन दिन में रिपोर्ट पेश करने के लिए कहा है।

ग्रामीणों में आक्रोश
प्रथम दृश्यता डीजे, बैंड पार्टी और बराती इस मामले में दोषी माने जा रहे हैं। उधर, पथरिया के ग्राम नंदरई में भूमि विश्वकर्मा की मौत के बाद पूरे गांव में शोक छाया हुआ है। परिवार के लोग पुलिस एवं जिला प्रशासन सहित बरातियों को बेटी का हत्यारा बता रहे हैं। घटनास्थल पर मौजूद पुलिसकर्मियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है। पुलिस ने जांच के नाम पर मामला तक दर्ज नहीं किया है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं