कांग्रेस विधायक की मौत हार्टअटैक नहीं, सिंधिया के तिरस्कार से हुई: रामेश्वर शर्मा | MP NEWS

Saturday, December 2, 2017

भोपाल। भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष, विधायक एवं कोलारस विधानसभा उपचुनाव के लिए प्रभारी रामेश्वर शर्मा ने दावा किया है कि कांग्रेस विधायक रामसिंह यादव की मौत हार्टअटैक नहीं बल्कि ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा सार्वजनिक मंच से तिरस्कृत कर दिए जाने के बाद सदमें के कारण हुई है। बता दें कि 7 सितम्बर 2017 को वह प्रसंग हुआ था जिसका जिक्र शर्मा ने किया और रामसिंह यादव की मृत्यु 18 अक्टूबर 2017 को हुई। 

शुक्रवार 1 दिसम्बर को भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने कहा कि दिवंगत विधायक राम सिंह दादा की मौत सदमे के कारण हुई है। इसके लिए सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया जिम्मेदार हैं। उन्होंने कुछ दिन पहले आयोजित एक सभा में राम सिंह दादा को धक्का देकर मंच से उतार दिया था। इसी सदमे में उन्हें हार्ट अटैक आया। सिंधिया मंच से नहीं उतारते तो शायद दादा आज हमारे बीच में होते। 

इससे पहले कांग्रेसियों ने दिवंगत विधायक राम सिंह यादव की मौत का जिम्मेदार भाजपा सरकार को बताते हुए कहा था कि यदि जिला अस्पताल के आईसीयू में ताले नहीं डले होते तो दादा जिंदा होते। हाल ही में कोलारस विधानसभा की जन आक्रोश रैली में भी सिंधिया और उनके समर्थकों ने मंच से दादा की मौत का जिम्मेदार भाजपा को बताया था। 

सिंधिया ने कब दिया था रामसिंह यादव को धक्का
वह 7 सितम्बर 17 की तारीख थी। एक वीडियो तेजी वायरल हुआ। इस वीडियो में दिखाई दे रहा था कि सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया कोलारस से कांग्रेस विधायक रामसिंह यादव को भरे मंच पर अपमानित कर रहे हैं। महाराज ने विधायक को भरे मंच से भगा दिया। अवसर की ताक में बैठे लोग सामंतवाद को पानी पी पीकर कोस रहे थे। यह वीडियो कुछ टीवी चैनलों पर भी चलाया गया। यही वीडियो हमारे सहयोगी संस्थान शिवपुरीसमाचार.कॉम के पास भी भेजा गया। उम्मीद की गई थी कि हम भी सोशल मीडिया के बहकावे में आकर वही सबकुछ लाइव कर देंगे जो चलाया जा रहा है परंतु ऐसा नहीं हुआ। शिवपुरीसमाचार.कॉम ने इस वीडियो का सच सुबह होने से पहले ही तलाश लिया। 

तो फिर माजरा क्या था, धक्का क्यों दिया
शिवपुरीसमाचार.कॉम ने जब इस बारे में जानकारी जुटाई तो पहले चरण में ही एक षडयंत्र की पोल खुल गई। दरअसल यह वीडियो कोलारस में ब्राह्मण समाज के प्रतिभा सम्मान समारोह का है। इस कार्यक्रम में विधायक रामसिंह भी आमंत्रित थे परंतु वो काफी बीमार थे। उनके पैर में इंफेक्शन हो गया। डॉक्टरों ने उन्हे कुर्सी पर बैठने के लिए मना किया है लेकिन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि ज्योतिरादित्य सिंधिया थे अत: रामसिह यादव डॉक्टर के मना करने के बाद भी कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे। जब सिंधिया को इसका पता चला तो उन्होंने अपने विधायक को आराम करने की सलाह दी और अधिकारपूर्वक मंच पर आने से रोका। ये रहा वो वीडियो, आप खुद देख लें, सच क्या है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं