नाराज महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने भोपाल में किया प्रदर्शन | EMPLOYEE NEWS

Thursday, December 7, 2017

भोपाल। स्वास्थ्य विभाग द्वारा नियमित एएनएम भर्ती के लिए अप्रैल में परीक्षा आयोजित की गई थी। जिसमें पूर्व से संविदा पर कार्यरत एएनएम को बोनस अंक प्रदान किए जाने के निर्देश प्रदान किए गये थे। इसमें बहुत सारे लोगों का रिजल्ट ही व्यापम के द्वारा जारी नहीं किया गया उसमें लिखा गया है कि कोर्ट के प्रकरण के कारण रिजल्ट रोक दिया गया है। बहुत सारी एएनएम को बोनस अंक ही प्रदान नहीं किये गये हैं। इस सबंध में संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ एवं सभी महिला संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों (एएनएम) ने स्वास्थ्य विभाग के संचालक जे.एल. मिश्रा को अनेकों बार ज्ञापन सौंपा लेकिन अभी तक इस पर कोई कार्यवाही नहीं की गई तथा एक महीने से यही कहा जा रहा है कि विभाग में कार्यवाही प्रचलन में है। 

लगातार ज्ञापन सौंपने के बाद भी अभी तक बोनस अंक प्रदान किए जाने की कार्यवाही ही नहीं की गई है तथा ना ही जिन अभ्यार्थियों के रिजल्ट एमपी आनलाईन ने रोके हुये हैं उनके रिजल्ट बतलाने की कोई कार्यवाही की गई है बीच में ही काउंसिलिंग प्रारंभ कर दी है जिसके कारण महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं में आक्रोश है। जिसके कारण आज महिला संविदा स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं (ए एन एम) ने म.प्र. संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर, संविदा स्वास्थ्य संघ के अध्यक्ष मेघ सिंह तथा कार्यकारी अध्यक्ष अनूप पटेल के नेतृत्व सतपूड़ा भवन स्थित संविदा स्वास्थ्य संचालनालय के बाहर प्रदर्शन कर नारेबाजी कर संचालक जे.एल. मिश्रा और आयुक्त पल्लवी जैन को ज्ञापन सौंपकर जिन महिला संविदा कर्मचारियों को बोनस अंक नहीं दिये गये हैं उनको बोनस अंक दिये जाने रिजल्ट जारी किए जाने की मांग की है। 

स्वास्थ्य विभाग ने दूसरी विसंगति एक और यह कर दी है कि बोनस अंक में भी भेद-भाव विभाग द्वारा किया गया है। ए.एन.एम को 20 अंक बोनस दिये जा रहे हैं तथा फार्मासिस्ट को 10 अंक बोनस दिये जा रहे हैं। विभाग एक ही है बोनस अंक दिये जाने के प्रावधान दो इससे भी स्वास्थ्य विभाग के लैबटैक्निशियनों फर्मासिस्टों में आक्रोश।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं