PINCON GROUP का मालिक MANORANJAN ROY गिरफ्तार, 1 लाख से ज्यादा लोगों से ठगी

Friday, November 3, 2017

नई दिल्ली। भारत की फॉर्च्यून 500 कंपनियों में शामिल 1000 करोड़ रुपए की कंपनी पिनकॉन ग्रुप के मालिक मनोरंजन रॉय समेत 4 लोगों को राजस्थान पुलिस धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। बताया जा रहा है कि पिनकॉन कंपनी के देश भर में ब्रांच थीं। उसने लोगों को 2 साल में 2 गुना पैसा करने का झांसा देकर निवेश हासिल किया। राजस्थान में 30 हजार जबकि उत्तरप्रदेश में 50 हजार लोगों से चिटफंड ठगी का आरोप है। 

राजस्थान में कंपनी पर 100 करोड़ से ज्यादा के धोखाधड़ी के आरोप हैं। राजस्थान पुलिस की एसओजी टीम ने इन आरोपों के चलते कंपनी के मालिक को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया है। एसओजी ने मनोरंजन रॉय के साथ उसके तीन साथियों को भी गिरफ्तार किया गया है। इनमें से मनोरंजन और विनय सिंह को शुक्रवार को सवाई मानिसंह अस्पताल में मेडिकल करवाने के बाद कोर्ट में पेश किया गया है।

पश्चिम बंगाल सरकार को शराब सप्लाई करने वाली प्रमुख कंपनी पिनकॉन पर यह कार्रवाई धोखाधड़ी की शिकायतों के बाद एसओजी आईजी दिनेश एमएन के नेतृत्व में की गई। एसओजी के अनुसार कंपनी का देशभर में कारोबार फैला हुआ है। जानकारी के अनुसार पिनकॉन कंपनी की राजस्थान के 12 शहरों में ब्रांचेज हैं। जबकि पिनकॉन ग्रुप की शाखाएं देशभर में 120 शहरों में फैली हैं। कंपनी पर इनके जरिए लाखों लोगों से धोखाधड़ी करने का आरोप है। राजस्थान में करीब 30,000 लोगों के साथ धोखाधड़ी हुई।

फॉर्च्यून 500 कंपनियों में 250वें नंबर पर
साल 2017 की फॉर्च्यून-500 सूची में पिनकॉन कंपनी 250वें नंबर पर बताई गई है. देश की टॉप मिडसाइज कंपनियों में पिनकॉन को इस सूची में लिस्ट किया गया है।

2014 में फरार हो गई थी कंपनी 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से 2014 में खबर आई थी कि पिनकॉन चिटफंड कंपनी करोड़ों रुपए लेकर फरार हो गई। निवेशकों ने सिगरा थाने पर शिकायत की थी। इसके बाद पुलिस ने कंपनी के मैनेजर समेत दो कर्मचारियों को हिरासत में ले लिया था। निवेशकों को पिनकॉन कंपनी के फरार होने का संदेह अनंत कॉम्प्लेक्स के बाहर बोर्ड नहीं होने पर हुआ। रातोंरात बोर्ड को हटा कर कंपनी फरार हो गई। सैकड़ों निवेशकों ने पैसा वापसी की मांग करते हुए हंगामा शुरू कर दिया था। 

दो साल से दो गुना कर रही थी पैसा
जानकारी के मुताबिक, पूर्वांचल के विभिन्न जिलों के करीब 50 हजार लोगों के करोड़ों रुपए से अधिक इस कंपनी में लगे हैं। 14.5 फीसदी ब्याज की पेशकश पर लोगों ने इस चिटफंड कंपनी में आंख मूंदकर निवेश किए थे। शुरू के दो साल कंपनी ने लोगों के रुपए दोगुने भी किए और अब गायब हो गई। निवेशक रितेश राय के अनुसार पिनकॉन ग्रुप में 11 कंपनियां हैं। इस कंपनी के गायब होने का पर्दाफाश तब हुआ जब निवेशक इस कंपनी के कार्यालय गए, जहां जाते ही उन्होंने देखा की कंपनी के कार्यालय के बाहर जो पिनकॉन का बोर्ड लगा था, उसकी जगह यूनिवर्सल लिखा हैं और अंदर की ऑफिस बदल गई है। पूछने पर जानकारी मिली की यहां पिनकॉन नाम की कोई कंपनी नहीं है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week