हम मोदी की खाल उधड़वा लेंगे: लालू के बेटे तेज प्रताप की धमकी | NATIONAL NEWS

Monday, November 27, 2017

पटना। डिप्टी सीएम सुशील मोदी के बेटे की शादी में उपद्रव की धमकी के बाद लालू यादव के परिवार की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए भी बेहद आपत्तिजनक शब्दों का उपयोग किया गया है। लालू के बड़े बेटे और पूर्व हेल्थ मिनिस्टर तेज प्रताप यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुलेआम धमकी दे दी है। विधानसभा कैम्पस में उन्होंने मीडिया से कहा कि वे मोदी की खाल उधड़वा लेंगे। बता दें कि केंद्र सरकार ने लालू की सिक्युरिटी जेड प्लस कैटेगरी से कम करके जेड कर दी गई है। तेज प्रताप इसी बात से बौखलाए थे। 

तेज प्रताप ने कहा कि मेरे पिता लालू यादव की हत्या की साजिश की जा रही है। इसी साजिश के चलते उनकी सुरक्षा में कटौती की गई है। आए दिन हम लोग कार्यक्रम करते हैं और उसमें लालू यादव भी आते रहते हैं। उन्होंने कहा कि अगर कोई अनहोनी होती है तो इसके लिए नरेंद्र मोदी जिम्मेदार होंगे। लालू की हत्या कराने की साजिश रची जा रही है। हम साजिश करने वालों को मुंहतोड़ जवाब देंगे।

सत्ता जाने से फ्रस्ट्रेशन में लालू परिवार
तेज प्रताप के बयान पर जेडीयू स्पोक्सपर्सन संजय सिंह ने कहा कि पीएम के बारे में इस तरह की बात करना बहुत गलत है। सत्ता से बाहर होने के बाद से लालू परिवार फ्रस्ट्रेशन का शिकार हो गया है। उन्होंने कहा कि तेज प्रताप ने कुछ दिन पहले ही सुशील मोदी को घर में घुसकर मारने की धमकी दी थी। लालू ने रविवार को कहा कि तेज प्रताप की फुफकार की वजह से सुशील मोदी डर गए। क्या आदमी फुफकारता है। यह लोग राजनीति को गंदा कर रहे हैं।

जनता सबक सिखाएगी: सुशील मोदी
डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री के लिए इस तरह की बात कहने वालों को जनता सबक सिखाएगी। नरेंद्र मोदी को सोनिया गांधी ने मौत का सौदागर कहा था इसके बाद क्या हुआ सब जानते हैं। तेज प्रताप सत्ता जाने के बाद से परेशान हैं। जनता उन्हें सबक सिखाएगी। ऐसा ही रहा तो वह आगे विधानसभा चुनाव भी नहीं जीत पाएंगे।

क्या है मामला?
केंद्र सरकार ने आरजेडी प्रेसिडेंट लालू प्रसाद यादव और राज्यसभा सांसद शरद यादव की सिक्युरिटी में कटौती कर दी है, जबकि पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी को मिली जेड प्लस सिक्युरिटी हटा ली है। लालू की सिक्युरिटी जेड प्लस कैटेगरी से कम करके जेड कर दी गई है। बता दें कि जेड प्लस कैटेगरी में 10 एनएसजी कमांडो और पुलिस समेत 55 सिक्युरिटी मेंबर्स होते हैं, जबकि जेड कैटेगरी में 22 सिक्युरिटी गार्ड्स का घेरा होता है। इनमें 4-5 एनएसजी कमांडो होते हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं