सो रहे पति का सिर हथोड़ा मार-मारकर कुचल डाला | MURDER AJMER NEWS

Saturday, November 11, 2017

अजमेर। गेगल थाना क्षेत्र में राजस्थान प्रसारण विद्युत निगम का 400 केवी ग्रिड स्टेशन के कर्मचारी का जघन्य हत्याकांड प्रकाश में आया है। मामले की आरोपी उसकी अपनी पत्नी है। हत्या तब की गई जब पति गहरी नींद में सो रहा था। पत्नी ने 5 किलो वजनी हथोड़ा लिया और पति की कनपटी पर एक के बाद एक लगातार 5 वार किए। पति के सिर का कचूमर निकल गया। उसके बाद पत्नी काफी देर तक पति की लाश के पास बैठी रही। 

डिप्रेशन में थी पत्नी, सुबह फांसी पर झूल गई
करीब दो घंटे तक पति के लहूलुहान शव और मासूम बच्चे के साथ वह डिप्रेशन की हालत में कमरे में बंद रही, सुबह उसने खुदकुशी का फैसला किया और बच्चे को पड़ोसी को सौंपकर खुद फांसी के फंदे पर लटक गई, लेकिन समय पर पड़ोसियों ने पहुंच कर उसे बचा लिया। पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया है। प्रारंभिक तौर पर सामने आया है कि महिला पति के शक्की मिजाज और प्रताड़ना से इतना डिप्रेशन में आ गई कि उसने खूनी वारदात कर डाली। 

पति की हत्या के बाद तीन बार आत्महत्या की कोशिश
पुलिस के अनुसार विद्युत प्रसारण निगम के सब स्टेशन में एटेंडेंट के पद पर कार्यरत धौलपुर निवासी तीस वर्षीय जितेन्द्र गुर्जर करीब डेढ़ महीने से यहां तैनात था। पांच दिन पहले रविवार को ही वह धौलपुर से अपनी पत्नी अनिता और तीन साल के बच्चे को लेकर अजमेर आया था। सब स्टेशन परिसर में वह क्वार्टर में रहता था। शुक्रवार सुबह करीब साढ़े छह बजे जितेन्द्र की पत्नी अनिता बदहवास हालत में बच्चे को लेकर पड़ोस में रह रहे कर्मचारियों के पास पहुंची थी। अनिता ने बच्चे को उन्हें सौंपते हुए कहा कि धौलपुर में उसके देवर ने सुसाइड कर लिया है। पति तो एक घंटे पहले ही धौलपुर चले गए, वह भी जा रही है। बच्चे को संभाल लेना। 

फांसी पर झूल रही महिला को पड़ौसियों ने बचाया
वह वापस क्वार्टर में लौट गई। कर्मचारियों को शक हुआ तो वह भी पीछे-पीछे उसके क्वार्टर में पहुंचे, जहां मंजर देख कर उनका दिल दहल उठा। अनिता साड़ी से पंखे में फंदा बांध कर फांसी पर लटकी हुई है। कर्मचारियों ने दरवाजा तोड़ कर तुरंत अनिता को पकड़ लिया, एक कर्मचारी ने चाकू से साड़ी का फंदा काट दिया। 

राहत की सांस लेते ही दिखाई दी पति की लाश
तुरंत प्रयास से अनिता को जान बच गई लेकिन कमरे में जितेन्द्र की लहूलुहान लाश देख कर कर्मचारी सहम गए। उन्होंने गेगल थाना पुलिस को सूचित कर पुलिस दल बुलवा लिया। अनिता के सिर और गले पर जख्म थे। अनिता के अनुसार उसने पति की हत्या के बाद धारदार हथियार से खुद को जख्मी कर मरने की कोशिश की थी, लेकिन नाकाम रहने पर उसने फांसी पर लटकने का फैसला किया था।

पांचवीं पास होने का ताना मारता था, शक भी करता था
मासूम बच्चे के सामने पति की हत्या करने वाली अनिता ने पुलिस के सामने फूट-फूट कर रोते हुए अपनी पीड़ा उजागर की। उसके बयान पर भरोसा किया जाए तो छह साल पहले उसकी शादी धौलपुर निवासी जितेन्द्र गुर्जर के साथ हुई थी। पिता बैंक ऑफिसर थे, लेकिन अनिता घर में सबसे कम पांचवीं तक ही शिक्षा ले पाई थी। विद्युत निगम में कर्मचारी जितेन्द्र को पत्नी का कम पढ़ा लिखा होना अखरता था। यही वजह थी कि वो हर रोज पत्नी को अपमानित और प्रताड़ित करने के साथ साथ उस पर अनैतिक गतिविधि का शक भी करता था। 

पति के सो जाने के बाद किया हमला 
हर रोज वह उस पर घर से बाहर नहीं जाने और किसी से मिलने-जुलने व बातचीत करने पर बंदिश लगाता था। अनिता के अनुसार पति का बर्ताव जब असहनीय हो गया। वह डिप्रेशन का शिकार हो गई थी। गुरुवार रात भी पति ने उसपर शक जाहिर कर झगड़ा किया था और उससे मारपीट भी की थी। गुस्से में उसने गहरी नींद में सो रहे पति के सिर पर पहले हथौड़े से वार कर उसे मौत के घाट उतारा। उसके बाद अपना गला चाकू से काटने की कोशिश की। तब भी मौत नहीं आई तो अपनी साड़ी का फंदा बनाकर पंखे से झूल गई। मगर उसकी किस्मत में अभी और जीना लिखा था।

3 साल का बेटा का चश्मदीद गवाह 
गहरी नींद में सो रहे पति के सिर पर भारी-भरकम हथौड़े का वार कर उसे हमेशा के लिए मौत की नींद सुलाने के बाद अनिता गुर्जर लाश के साथ कमरे में करीब दो घंटे तक रही थी। इस दौरान उसने अपने को भी जख्मी कर लिया था। तीन साल का उसका बेटा गुन्नू इस खूनी मंजर का चश्मदीद गवाह है, लेकिन उसके बयान को न तो पुलिस अहमियत दे रही है और न ही कोर्ट में भी उसे माना जाएगा।

डरा सहमा मासूम किसी भी महिला की गोद में नहीं जा रहा
पति की कातिल अनिता गुर्जर वारदात के बाद से गुमसुम पथराई आंखों से एक टक निहार रही है। पुलिस अधिकारियों से वह बस एक ही सवाल कर रही है कि साहब मेरी जमानत तो हो जाएगी? पुलिस अधिकारी भी उसे सामान्य रखने के लिए उसकी जल्द जमानत होने का भरोसा दिला रहे हैं। दूसरी ओर अनिता का मासूम बेटा गुन्नू जिसने मां को पिता की हत्या करते देखा था। वह इतना सहमा हुआ है कि किसी भी औरत की गोद में जाने से कतरा रहा है। 

कत्ल अनिता ने ही किया, इसके सबूत मिले
एसपी राजेन्द्र सिंह चौधरी, सीओ ग्रामीण राजेश वर्मा और गेगल थाना प्रभारी मय दल मौके पर पहुंचे। एमओबी टीम भी वारदात स्थल पर पहुंच गई। टीम ने हर पहलू की जांच की और मौके से साक्ष्य जुटाए हैं। बयान में अनिता ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। एसपी राजेन्द्र सिंह अनुसार मामले में तफ्तीश जारी है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week