महिला अधिकारी का ऐलान 'मैं तो पद्मावती देखने जाऊंगी' | FILM PADMAVATI DISPUTE LATEST NEWS

Wednesday, November 15, 2017

भोपाल। फिल्म पद्माव​ती को लेकर जहां एक ओर उग्र विरोध दिखाई दे रहा है तो दूसरी ओर समर्थन में आवाज भी उठने लगी है। मध्यप्रदेश की एक प्रशासनिक महिला अधिकारी मंदसौर नगर पालिका की सीएमओ सविता प्रधान ने सोशल मीडिया पर ऐलान किया है कि 'मैं तो पद्मावती देखने जाऊंगी'। इसके बाद राजपूत करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने काफी हंगामा किया। सविता को सस्पेंड करने की मांग की। 

दरअसल, सीएमओ सविता प्रधान ने फेसबुक पर लिखा था कि' 'मैं फिल्म देखने जाऊंगी'. और करणी सेना पहले ही मंदसौर के किसी भी टॉकीज में फिल्म नहीं चलने देने का ऐलान कर चुकी है लेकिन अब जल्द ही यह फ़िल्म मंदसौर के एक टॉकीज में चलने वाली है। ऐसे में नगर पालिका सीएमओ द्वारा सोशल मीडिया पर इस फिल्म को देखने का बयान जारी करने के बाद करणी सेना के पदाधिकारी भड़क उठे और उन्होंने कार्यालय का घेराव कर दिया।

करणी सेना के पदाधिकारियों ने इस मामले में समाज का अपमान करने का आरोप लगाते हुए सीएमओ से माफ़ी मांगने की भी मांग उठाई थी, लेकिन खास बात यह हे की इस घटना के बाद सीएमओ बातचीत करने के बजाय पालिका कार्यालय से अचानक गायब हो गईं। इसके बाद गुस्साए कार्यकर्ताओं ने उन्हें वापस आकर सार्वजनिक माफी मांगने की मांग उठाते हुए उनका पुतला फूंक डाला।

नाराज कार्यकर्ता डेढ़ बजे के लगभग अचानक नगरपालिका कार्यालय पहुंच गए और उन्होंने पूरे कार्यालय का घेराव कर मेन गेट को बंद कर दिया। करणी सेना के कार्यकर्ता काफी देर पालिका कार्यालय में हंगामा करते रहे और उन्होंने कई विभागों में हो रहे सरकारी कामकाज को भी बंद करवा दिया। बाद में सिटी कोतवाली थाना पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने मौके पर जाकर कार्यकर्ताओं से तीन दिन में मामला सुलझाने की बातचीत की तब जाकर उनका गुस्सा शांत हुआ।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं