महिला संविदा कर्मचारी का यौन शोषण: विरोध प्रदर्शन का ऐलान | EMPLOYEE NEWS

Thursday, November 30, 2017

भोपाल। नागरिक आपूर्ति विकास निगम के अधिकारी द्वारा संविदा महिला कर्मचारी की संविदा बढ़ाने के नाम पर किये गये शोषण के विरोध में कल शुक्रवार दिनांक 1 दिसम्बर 2017 को भोपाल जिले के समस्त संविदा कर्मचारी अधिकारी दोपहर डेढ़ बजे संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के तत्वाधान में नागरिक आपूर्ति विकास निगम के मुख्यालय पर्यावास भवन के सामने संविदा कर्मचारी अधिकारी प्रदर्शन कर संविदा कर्मचारियों के चरणबद्ध आंदोलन के चौथे चरण की शुरूआत करेंगें। 

संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर ने बताया कि मप्र संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ लगातार मुख्यमंत्री, मंत्री और प्रशासन को प्रतिवर्ष संविदा बढ़ाने के नाम पर संविदा कर्मचारियों को हो रहे आर्थिक, मानसिक, शारीरिक शोषण को लेकर ज्ञापन देकर प्रतिवर्ष संविदा बढ़ाने की बजाए नियमित करने की मांग करता रहा है लेकिन प्रदेश सरकार ने संविदा कर्मचारियों को नियमित किए जाने के लिए कोई कदम नहीं उठाया है। जिसके कारण हर बार संविदा बढ़ाने के नाम पर कहीं पैसों का लेन-देन, जी हजुरी करवाना, शरीरिक शोषण करना आदि किया जाता है। 

वर्तमान में बेरोजगारी और आर्थिक तंगी की स्थिति में संविदा कर्मचारी शोषण सहने को मजबूर है। अनेक ऐसे प्रकरण शर्म के कारण सामने नहीं आ पाते हैं लेकिन कुछ लोग हिम्मत करके आगे आ रहे हैं। म.प्र. संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर ने मांग की है कि संविदा कर्मचारियों की संविदा प्रतिवर्ष बढ़ाने का प्रावधान समाप्त करते हुऐ नियमित किया जाए। जब तक नियमित नहीं किया जाता तब तक संविदा कर्मचारियों को परियोजना अवधि अथवा जब तक विभागों में कार्य हैं तब तक के लिए, आगामी आदेश तक के लिए नौकरी पर रखा जाए। 

मप्र संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ कल दोपहर डेढ़ बजे (1ः30) नागरिक आपूर्ति निगम के मुख्यालय पर्यावास भवन के सामने संविदा नवीनीकरण के नाम पर हो रहे शोषण के विरोध में प्रदर्शन कर संविदा कर्मचारियों को नियमित करने के लिए किए जा रहे चरणबद्ध आंदोलन के  चौथे चरण में संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ पूरे प्रदेश में 1 दिसम्बर से 31 दिसम्बर तक संविदा नौकरी एक सामाजिक अभिशाप पर संगोष्ठी,, परिचर्चा, व्याख्यान माला आयोजित करेगा जिसमें बुद्विजीवी,, गणमान्य पत्रकार , सामाजिक कार्यकर्ता, जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित किया जायेगा जिनके समक्ष संविदा नौकरी एक सामाजिक अभिशाप पर व्याख्यान, परिचर्चा, संगोष्ठी आयोजित की जायेगी । और पूरे प्रदेश में सभी जनता को बताया जायेगा कि संविदा नौकरी में किस - किस प्रकार से शोषण किया जाता है और किन - किन समस्याओं का सामना संविदा कर्मचारियों को सामना करना पढ़ता है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं