दूसरी बेटी को पैदा होते ही बाल्टी में डुबाकर मार दिया | CRIME NEWS

Saturday, November 18, 2017

जयपुर। राजस्थान के चूरू जिले के तारानगर तहसील में रहने वाले एक फौजी ने अपनी नवजात बेटी को बाल्टी के पानी में डुबोकर मार डाला। बच्ची का जन्म दो दिन पहले ही हुआ था। इसके बाद पत्नी से मारपीट भी की गई। हालांकि पत्नी ने ही हिम्मत कर इसकी शिकायत पुलिस में की। पुलिस ने कब्र से शव निकलवा कर उसका पोस्टमार्टम कराया। यह घटना तारानगर तहसील के घासला गांव में हुई। पुलिस के अनुसार यहां की एक महिला प्रियंका ने रिपोर्ट दर्ज कर बताया कि उसकी शादी 26 नवम्बर, 2015 को अशोक पूनिया से हुई थी। शादी के बाद से ही उसे रुपए लाने के लिए आए दिन मारा-पीटा जाता था। इसी दौरान उसे चार दिन पहले प्रसव पीड़ा हुई। इस पर उसे राजगढ़ के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

14 नवंबर को उसने बेटी को जन्म दिया। इसके बाद बीते 15 नवंबर को परिजन उसे घर लेकर आए। आते ही पति अशोक पूनिया ने बेटी को उससे छीन लिया और बाल्टी में भरे पानी में डुबोकर उसकी हत्या कर दी। उसने विरोध किया तो उसके साथ पति व परिजनों ने जमकर मारपीट की। बेटी की हत्या के बाद पिता ने उसको मिट्टी में दफना भी दिया और घर से फरार हो गया।

पुलिस के अधिकारी एसडीएम को साथ लेकर शुक्रवार सुबह मुक्तिधाम पहुंचे और मासूम के शव को बाहर निकलवाया। चूरू के डीबी अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाया गया। इस बीच तारानगर पुलिस ने फौजी पिता कोपूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है। प्रियंका ने बताया कि दूसरी बेटी के पैदा होने से वह खुश नहीं था। पति ने उससे दस लाख रुपए भी मांगे। उसका कहना था कि दो-दो बेटियां हो गई हैं। इनके पालन-पोषण के लिए रुपयों की आवश्यकता है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं