अजितेश ने मेरे साथ बुरा बर्ताव किया: बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु

Saturday, November 4, 2017

भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने इंडिगो एयरलाइन के ग्राउंड स्टाफ द्वारा उनके साथ कथित तौर पर दुर्व्यहार करने की शिकायत करते हुए इंडिगो एयरलाइंस की कड़ी आलोचना की है. उन्होंने शनिवार को कई ट्वीट कर अपनी नाराजगी जाहिर की. हालांकि बाद में इंडिगो प्रबंधन ने इस मामले में अपनी सफाई दी है. रियो ओलंपिक की सिल्वर मेडलिस्ट सिंधु ने ट्वीट में लिखा, 'बड़े दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि 4 नवंबर को फ्लाइट संख्या- 6E 608 से मुंबई की उड़ान के दौरान मेरा बहुत बुरा अनुभव रहा.' उन्होंने ग्राउंड स्टाफ अजितेश का नाम लिया.

दूसरे पोस्ट में उन्होंने लिखा, 'ग्राउंड स्टाफ (कप्तान) श्री अजितेश ने मेरे साथ बुरा बर्ताव किया और बुरी तरह पेश आए. जब एयर होस्टेस सुश्री आशिमा ने उससे यात्रियों (मेरे साथ) के साथ ठीक से व्यवहार करने की सलाह देने की कोशिश की, तो मुझे हैरानी है कि उनके साथ भी वह (ग्राउंड स्टाफ) बुरी तरह पेश आया. यदि एेसे लोग इंडिगो जैसी प्रतिष्ठित एयरलाइंस के लिए काम करते हैं, तो वह (एयरलाइंस) अपनी प्रतिष्ठा (@ इंडिगो 6 ई) गंवा देगी.' यह पहला वाकया नहीं है, जब भारतीय खिलाड़ियों के साथ विमान में बुरा बर्ताव हुआ हो. पहले भी सचिन तेंदुलकर और हरभजन सिंह क्रमशः ब्रिटिश एयरवेज और जेट एयरवेज की आलोचना कर चुके हैं.

इंडिगो ने अपना बयान जारी कर ऐसा कहा है- पीवी सिंधु फ्लाइट 6 ई 608 (हैदराबाद से मुंबई) पर सवार हुईं. उनका लेगज ओवरसाइज था, जो सामान रखने की जगह के लिए फिट नहीं था. उनसे कहा गया कि उनके सामान को हम कार्गो में रखवा देते हैं. सभी कस्टमर्स के लिए एक जैसे नियम हैं.

ज्यादा बड़ा लगेज अन्य कस्टमर्स की असुविधा का कारण बना सकता है. इससे विमान सुरक्षा को भी खतरा पहुंच सकता है. पूरी बातचीत के दौरान इंडिगो ग्राउंड ऑपरेशन मेंबर शांत रहे. लगातार अनुरोध के बाद आखिरकार उनके मैनेजर केबिन से उस बड़े बैग को हटाने के लिए राजी हो गए. इसके बाद हमने उनके लगेज को कार्गो में रखवा दिया. जिसे बाद में उन्हें (सिंधु) अरावइल पर सौंप दिया गया. सिंधु के पिता के मुताबिक जिस बड़े बैग की बात की जा रही है और उसमें सिंधु अपने बैडमिंटन रैकेट ले जा रही थीं, जिसे ले जाने से मना करने के दौरान इंडिगो ग्राउंड स्टाफ ने उनसे काफी खराब ढंग से बात की. हालांकि सिंधु की मां ने इस पूरी घटना को ज्यादा गंभीर न बताते हुए कहा कि इस घटना को ज्यादा तूल नहीं दिया जाना चाहिए.

सिंधु की खेल उपलब्धियों पर हमें बेहद गर्व है. हालांकि, इंडिगो के लिए सुरक्षा सर्वोपरि है. हमें उम्मीद है कि सुश्री सिंधु इस बात की सराहना करेंगे कि हमारे सहयोगी सुरक्षा और विश्वसनीय सेवा के मद्देनजर सिर्फ अपना कर्तव्य निभा रहे थे.

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week