BJP नेता ने मुसलमानों को धमकाया, वोट नहीं दिया तो कष्ट झेलोगे | UPME NEWS

Thursday, November 16, 2017

लखनऊ। उत्तरप्रदेश नगरीय निकाय चुनाव में आज एक बड़ा विवादित मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि बाराबंकी के पूर्व चेयरमैन रंजीत बहादुर श्रीवास्तव ने खुले मंच से मुसलमानों को धमकी दी है कि यदि उन्होंने भाजपा को वोट नहीं दिया तो वो नतीजे भुगतने के लिए तैयार रहें। श्रीवास्तव ने खुली धमकियां दीं हैं। यहां तक कहा कि वोट दोगे तो सुखी रहोगे और अगर वोट नहीं दोगे तो वो कष्ट झेलोगे। बता दें कि उनकी पत्नी शशि श्रीवास्तव इस बार बतौर भाजपा प्रत्याशी चुनाव लड़ रहीं हैं। इस दौरान मंच पर उत्तरप्रदेश सरकार के मंत्री रमापति राम व दारा सिंह भी मौजूद थे।

बाराबंकी के सत्यप्रेमी नगर के राम स्वरूप यादव पार्क में आयोजित नगर निकाय सम्मेलन में बोलते हुए बीजेपी प्रत्याशी शशि श्रीवास्तव के पति और पूर्व चेयरमैन रंजीत बहादुर श्रीवास्तव ने खुलेआम मंच से मुस्लिम मतदाताओं को धमकाया और धमकाते हुए जबरन वोट डालने के लिए दबाव डाला। यही नहीं बीजेपी के पक्ष में वोट न डालने पर अंजाम भुगतने तक की चेतावनी दी।

तुम्हारा कोई भी नेता तुम्हारी कोई मदद नहीं कर सकता
उन्होंने कहा कि यूपी में बीजेपी की सरकार है, समाजवादी पार्टी की सरकार नहीं है। अब तुम डीएम/एसपी के पास जाकर अपना काम नहीं करा सकते हो, यहां पर तुम्हारा कोई भी नेता तुम्हारी कोई मदद नहीं कर सकता है। सड़क, खड़ंजा नाली यह नगर पालिका का काम है। दूसरी दुख मुसीबतें भी तुम्हारे ऊपर आ सकती हैं आज तुम्हारा कोई भी पैरोकार भारतीय जनता पार्टी में नहीं है।

भीख नहीं मांग रहा हूं, वोट दोगे तो सुखी रहोगे 
उन्होंने कहा अगर हमारे सभासदों को तुमने बगैर भेदभाव चुनाव नहीं जिताया, अगर रंजीत बहादुर की पत्नी को तुमने वोट देकर नहीं जिताया तो यह दूरी जो तुम बनाने जा रहे हो यह दूरी अब बनेगी तो समाजवादी पार्टी तुम्हें बचाने नहीं आएगी। बीजेपी का शासन काल है जो कष्ट तुमको नहीं झेलने पड़े थे वो कष्ट तुमको उठाने पड़ सकते हैं। इसलिए मैं मुसलमानों से कह रहा हूं, वोट दे देना, भीख नहीं मांग रहा हूं। वोट दोगे तो सुखी रहोगे और अगर वोट नहीं दोगे तो वो कष्ट झेलोगे। उसका अंदाज़ा तुम्हें पता लग जायेगा।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं