बैंकों ने एटीएम और ब्रांच से लेनदेन की लिमिट बदली | BANK NEWS

Sunday, November 19, 2017

बहुत से बैंकों ने अपने कार्ड में रोजाना की ट्रांजेक्शन लिमिट बढ़ा दी है। इसके तहत अब यह राशि 40000 से बढ़कर 50000 रुपए हो गई है। साथ ही ब्रांचों में पैसे निकालने की कोई लिमिट नहीं है। उपभोक्ता अपनी आवश्यकता के अनुसार पैसे निकाल सकते हैं। पैसे निकालने की लिमिट बढ़ने के साथ ही इन दिनों उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए लगाए गए रिसाइकिल मशीन में पैसे जमा करने की लिमिट 2 लाख हो गई है। उपभोक्ता 2 लाख रुपए तक की राशि इस मशीन में जमा कर सकते हैं।

बैंकिंग सूत्रों का कहना है कि रोजाना ट्रांजेक्शन की यह लिमिट एसबीआई के साथ कुछ निजी बैंकों ने बढ़ाई है, लेकिन उपभोक्ता को यह ध्यान देना होगा कि अगर उसकी राशि एक एटीएम से न निकले तो वह परेशान न हो तथा दूसरे एटीएम का उपयोग कर ले। बैंक अफसरों का कहना है कि यह उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए ही है। एसबीआई के डीजीएस ब्रम्ह सिंह का कहना है कि बैंकों की ब्रांचो में उपभोक्ता के ट्रांजेक्शन में नो लिमिट है। इससे उनका फायदा ही होगा। इसके साथ ही नई अत्याुनिक मशीनें लगाई गई हैं।

ग्राहक सेवा केंद्र भी बनने लगे बैंक, होने लगी शुल्क माफी
इन दिनों एसबीआई ने उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए खोले गए उपभोक्ता सेवा केंद्रों को बैंकिंग सेवा शुरू करने भी छूट दे रही है। इसके तहत कुछ ग्राहक सेवा केंद्रों में बैंकों की तरह खाता खोलना, जमा करना, पैसा निकासी के साथ ही पासबुक रखना अन्य बैंकिंग सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जा रही हैं। इसके साथ ही सबसे बड़ी सुविधा के रूप में यह दी जा रही है कि कुछ ग्राहक सेवा केंद्रों में इन दिनों पैसा जमा करने पर लिया जाने वाला शुल्क फ्री कर दिया गया है। उपभोक्ताओं के लिए यह बहुत राहत वाली बात है।

पांच बार फ्री फिर शुल्क
उपभोक्ताओं द्वारा किसी दूसरे बैंक के एटीएम का उपयोग महीने में पांच बार फ्री कर सकते हैं। इसके बाद करने पर उन्हें शुल्क लगेगा। सभी बैंक अपने-अपने तरीके से अलग-अलग शुल्क ले रहे है। बताया जा रहा है कि निजी बैंक तो शुल्क वसूली में मनमानी भी करने लगे हैं।

बैंकों में जल्दी ही बनने लगेंगे आधार कार्ड, आने लगीं मशीनें
उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए बैंकों में जल्द ही आधार कार्ड बनने भी शुरू होने वाले हैं। इसके लिए मशीनें भी आने लगी है तथा एजेंसियां नियुक्त होने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। बताया जा रहा है कि आधार कार्ड बनने की प्रक्रिया एसबीआई सहित कुछ अन्य बैंकों के दस शाखाओं में से एक शाखा में शुरू होगा।

आरबीआई ने बैंकों को स्पष्ट निर्देश दिए है कि वह उपभोक्ता सर्विस के मामले में किसी भी तरह से कोताही न बरते। बैंकों में आधार कार्ड बनने के साथ ही इसमें त्रुटि सुधार का भी काम होगा। संभावना जताई जा रही है कि दिसंबर पहले हफ्ते से यह सुविधा शुरू हो जाएगी।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं