सिपाही से लेकर ASP तक वर्षों से भोपाल में ही जमें हैं, POLICE चुस्त कैसे होगी

Sunday, November 5, 2017

भोपाल। भोपाल पुलिस के 80 फीसदी एएसपी से टीआई रैंक के अफसरों ने भोपाल में ही अपनी पूरी नौकरी गुजार दी है। कोई एसआई से भर्ती होकर सीएसपी तक पहुंच गया। तो कोई सिपाही से थाना प्रभारी बन गया। नियम तीन साल में ट्रांसफर का है, लेकिन यह नियम सिर्फ डीआईजी पर ही लागू हो रहा है। मजबूत राजनीतिक पकड़ की बदौलत मैदानी पुलिस अफसर न सिर्फ जिले में जमे हुए है बल्कि अच्छा खासा स्टेटस भी खड़ा कर लिया हैं। आयकर विभाग या लोकायुक्त की छापामार कार्रवाई हो जाए तो बड़ी आसानी से खुलासा हो जाएगा कि भोपाल की आधी से ज्यादा पुलिस लापरवाह क्यों है। 

देखो कितनी पुरानी जड़ें जमीं हैं 
जानकारी के अनुसार सीएसपी हबीबगंज भूपेंद्र सिंह का राजधानी में काफी लंबा कार्यकाल है। वे 84 बैच के सीधी भर्ती के एसआई है। वे जिले में एसआई के बाद मिसरोद और हनुमानगंज में टीआई भी रह चुके हैं। 
जहांगीराबाद सीएसपी भारतेंदु शर्मा टीआई मंगलवारा और बैरागढ़ के बाद सीएसपी जहांगीराबाद हैं। वह सीधी भर्ती 83 बैच के एसआई है। 
गोपाल सिंह चौहान बैरसिया और बैरागढ़ में लंबी पदस्थापना के बाद प्रमोशन के बाद वापस भोपाल के टीटीनगर संभाग में सीएसपी बनकर लौटे। 
गोविंदपुरा सीएसपी वीरेंद्र मिश्रा तो गोविंदपुरा थाने में ही एसआई थे, उसके बाद उसी थाने में टीआई और अब उसी गोविंदपुरा संभाग में सीएसपी हैं। 
शाहजहांनाबाद इलाके के सीएसपी नागेंद्र पटेरिया का तो नाम ही काफी है। मणप्पुरम डकैती के समय हनुमानगंज थाने के टीआई थे। उसके बाद पिपलानी में टीआई रहते सहगल हत्याकांड में उनकी जांच ने लंबी सुर्खियां बटोरी थी।

ट्रैफिक पुलिस भी पीछे नहीं है
एएसपी महेंद्र जैन भर्ती होकर भोपाल में सूबेदार पद पर आए उसके बाद सीएसपी और अब एएसपी ट्रैफिक संभाल रहे हैं। 
विक्रम सिंह रघुवंशी ट्रैफिक टीआई थे, अब डीएसपी ट्रैफिक हैं। 
डीएसपी संजय पवार आरआई भोपाल भी रह चुके हैं। 
अजय वाजपेयी भी भोपाल में सूबेदार थे। उसके बाद आरआई बने और अब डीएसपी है। 
हनुमानगंज सीएसपी जी. कार निशातपुरा थाने में सब इंस्पेक्टर रह चुके हैं।

एक दर्जन से ज्यादा टीआई जड़ें जमा चुके हैं
2000 बैच बैरागढ़ टीआई सुधीर अरजारिया हबीबगंज में एसआई थे। 
टीआई कमलानगर आशीष भट्टाचार्य भोपाल क्राइम ब्रांच में सब इंस्पेक्टर थे। 
टीआई शाहजहांनाबाद जितेंद्र पाठक एसआई क्राइम ब्रांच रह चुके हैं। उनकी भोपाल टीआई के रूप में दूसरी पदस्थापना है। 
राजीव जंगले 88 बैच के सीधी भर्ती के एसआई है। वह भोपाल के जहांगीराबाद थाने में एसआई रह चुके हैं। 
छोला मंदिर पकंज द्विवेदी और निशातपुरा टीआई एसएन मुकाती, पिपलानी टीआई बृजेश भार्गव, अशोका गार्डन वीरेंद्र सिंह भी पूर्व में राजधानी में लंबे समय तक एसआई रह चुके हैं। इसी तरह बागसेवनिया टीआई ललित सिंह डांगुर सालों तक बिलखिरिया में थाना प्रभारी रह चुके हैं।

लौट लौटकर भोपाल आ जाते हैं
भोपाल में सीएसपी टीटी नगर रह चुके धर्मवीर सिंह का भी शहर से मोह नहीं छूटा है। वह एएसपी रह चुके थे। उसके बाद उनका तबादला एएसपी भिंड हुआ था, जहां से वह फिर भोपाल लौटकर आए। इसी तरह से राजेश सिंह भदौरिया तो प्रशिक्षु सीएसपी के रूप में भोपाल आए थे। जहां से हबीबगंज सीएसपी रहे और एएसपी जोन 4 है। समीर यादव सीएसपी शाहजहांनाबाद रह चुके हैं, वे अब एएसपी जोन 4 है। एएसपी क्राइम ब्रांच रश्मि मिश्रा निशातपुरा संभाग में सीएसपी रह चुकी है। उसके बाद वापस एएसपी बनी हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week