अध्यापकों की नर्मदा परिक्रमा शुरू, गुजरात तक जाएगी | ADHYAPAK SAMACHAR

Monday, November 13, 2017

अनूपपुर। अध्यापकों को शिक्षा विभाग में संविलियन की मांग को लेकर मप्र शासकीय अध्यापक संगठन द्वारा रविवार को अमरकंटक से गुजरात तक नर्मदा परिक्रमा यात्रा की शुरूआत की। अध्यापकों ने मां नर्मदा के दर्शन करने के बाद मां नर्मदा का ध्वज लेकर विशाल रैली निकाली जो आगे बढ़ते हुए डिंडौरी जिले की सीमा में प्रवेश कर गई। अमरकंटक के नर्मदा तट पर इस यात्रा के आरंभ में एक आमसभा अध्यापक संगठन की हुई जिसमें सभी जिलों से आए अध्यापक मौजूद रहे। 28 दिनो तक यह परिक्रमा चलेगी। 3600 किलोमीटर की नर्मदा परिक्रमा करने के बाद 3 दिसंबर को गुजरात के भरूच से यह यात्रा अमरकंटक वापस लौट आएगी।

अमरकंटक के नर्मदा उदगम स्थल के करीब मेला ग्राउंड रामघाट में पूरे प्रदेश से अध्यापको का जमावड़ा रहा। सुबह 11 बजे आमसभा की शुरूआत कार्यक्रम स्थल पर नर्मदा पूजन के साथ हुआ। शिक्षा, शिक्षार्थी, शिक्षालय एवं शिक्षक (अध्यापक)बचाव कार्यक्रम अंतर्गत नर्मदा सेवा यात्रा के शुभारंभ मौके पर अमरकंटक के महामण्डलेश्वर लक्ष्मणदास बालयोगी महाराज बर्फानी आश्रम अमरकंटक मुख्य अतिथि थे। यह कार्यक्रम विशिष्ट अतिथि डा. परमानंद तिवारी प्रध्यापक शासकीय महाविद्यालय जैतहरी एवं आरिफ अंजुम प्रांताध्यक्ष मप्र शासकीय अध्यापक संगठन की अध्यक्षता में हुई। इस मौके पर अमरकंटक से भरूच तक नर्मदा परिक्रमा का सभी के द्वारा संकल्प लिया गया।

कार्यक्रम में वक्ताओं ने प्रदेश शासन के मुखिया पर अध्यापको के साथ वादाखिलाफी किए जाने पर आगाह किया कि सरकार का यह रवैया अध्यापकों के विरोध में यदि रहा तो सरकार को इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। वक्ताओं ने कहा कि 2003 में व पश्चात मुख्यमंत्री द्वारा अध्यापक संवर्ग का शिक्षा विभाग में संविलियन किए जाने जो घोषणा की थी वह अब तक पूरी नहीं की जा सकी। यह नर्मदा सेवा यात्रा निकालने का उद्देश्य सरकार को उस वादे को निभाने और याद दिलाने के लिए है। यदि सरकार इस वित्तीय वर्ष संविलियन न किया तो अध्यापको को सरकार के प्रति विश्वास उठ जाएगा।

कार्यक्रम को अध्यापक संगठन के अवधराज सोलंकी, श्याम नारायण पाठक, रामचरित द्विवेदी, भगवती तिवारी, अशोक द्विवेदी ने भी संबोधित किया। इस नर्मदा सेवा यात्रा में प्रदेश के हर जिले से अध्यापक पहुंचे थे। कार्यक्रम के बाद दोपहर 2 बजे एक रैली मेला ग्राउंड से माई की बगिया होकर मां नर्मदा के मंदिर पहुंची जहां नर्मदा कुण्ड में दर्शन व पूजा के बाद नर्मदा परिक्रमा का आरंभ किया गया। मां नर्मदा का ध्वज के साथ यात्रा नगर के मुख्य मार्ग से होकर अरंडी संगम के पास डिंडौरी जिले की सीमा शाम 4 बजे प्रवेश कर गई। इस यात्रा का अगला पड़ाव शनिवार शाम करंजिया में रहा।इस यात्रा में अनूपपुर सहित कई स्थानो के अध्यापक भी चलेंगे। इस यात्रा के दौरान पुलिस और प्रशासन के अधिकारी भी मौजूद रहे।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week