देवगुरु बृहस्पति का उदय: पढ़िए आपको कितना प्रभावित करेगा

Sunday, November 5, 2017

अर्थ (धन) विद्या, ज्ञान, भरण पोषण, वृद्धि, मांगलिक कार्यों के कारक भगवान देवगुरु तुला राशि मॆ उदय होने वाले है, इनके उदय होने से विश्व व्यापार, शांतिपूर्ण वार्ता, आर्थिक क्षेत्र मॆ वृद्धि के कार्य होंगे, आइये देखते है गुरु का उदय होना विश्वस्तर पर सभी राशियों के लिये क्या परिणाम देने वाला है। वित्तीय क्षेत्र,बेंक शेयर बाजार से अच्छे समाचार प्राप्त होंगे। फिल्म उद्योग, फैशन, सराफा उद्योग, उड्डयन(हवाई यात्रा)के लिये यह गुरु ठीक नही रहेगा धर्म, आद्यात्म, ज्ञान, शिक्षा आदि के क्षेत्र मॆ शुभ परिणाम प्राप्त होंगे।

शनि के शुभ परिणाम
शनि देव इस समय गुरु की मूल त्रिकोण राशि में हैं। गुरु के उदय होने से शनि के शुभ परिणामों मॆ वृद्धि होगी। नवीन उद्योग प्रारंभ होने के योग। पुराने कार्यों मॆ तेजी देखने को मिलेगी। सभी कार्यों मॆ शासकीय सहयोग से वृद्धि देखने को मिलेगी। इन्फ्रास्ट्रचर को सामने रखकर निर्माण के कार्यों मॆ तेजी आयेगी। शनि से जुड़े क्षेत्र निर्माण, तेल, लोहा तथा सभी प्रकार के कार्यों मॆ अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे।

*मेष*भाग्यवर्धक समाचार ईश्वरकृपा के योग,कामकाज मॆ वृद्धि के योग,सरकार तथा वरिष्ठ लोगों से कृपा प्राप्त होगी।
*वृषभ*-आर्थिक समस्याओं को सुलझाने मॆ समय व्यतीत होगा, खानपान मॆ सावधानी बरतें, वरिष्ठ लोगों से विवाद न करें।
*मिथुन*-व्यापार कामकाज मॆ वृद्धि के योग,परिवार मॆ मांगलिक कार्यों के योग।
*कर्क*-विवादों मॆ सफलता प्राप्ति के योग,मकान,वाहन तथा सामाजिक कार्यों मॆ सफलता प्राप्त होगी।
*सिंह*-शिक्षा,संतान,मित्र वर्ग से सहयोग प्राप्त होगा,महत्वपूर्ण निर्णय पक्ष मॆ जायेंगे,भाग्यवर्धक कार्यों का योग।
*कन्या*-धनवृद्धि के योग,आर्थिक क्षेत्र मॆ खास सफलता प्राप्त होगी,परिवार मॆ मांगलिक कार्यों का योग।

*तुला*-रोग ऋण शत्रु से सावधान रहें,खानपान तथा चिकित्सा मॆ सही सलाह का ध्यान रखें विदेश यात्रा का योग।
*वृश्चिक*-धर्म शिक्षा तथा सम्पत्ति मॆ धन व्यय का योग,धार्मिक मांगलिक कार्यों मॆ व्यय का योग।
*धनु*-व्यापार,कर्मक्षेत्र तथा शिक्षा के क्षेत्र मॆ विशेष लाभ का योग,नौकरी मॆ पदोन्नति सम्भव।
*मकर*-विदेशी सम्बन्धों से लाभ का योग,व्यर्थ की तारीफ से दूर रहें।
*कुम्भ*-आमदनी के स्त्रोत अच्छा लाभ देंगे,वित्तीय संस्थाओं से लाभ का योग।
*मीन*-मान सम्मान मॆ वृद्धि के योग,कर्मक्षेत्र मॆ प्रतिष्ठा वृद्धि के योग।
*प.चंद्रशेखर नेमा"हिमांशु"*
9893280184,7000460931

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week