जिस कोर्ट में पिता चपरासी थे, बेटी जज बनकर आ गई

Saturday, November 4, 2017

नई दिल्ली। कोर्ट में चपरासी की बेटी के जज बनने की कहानी पूरे बिहार की सुर्खियों में है। उल्लेखनीय यह भी है कि वो उसी कोर्ट में जज बनकर आई है जिसमें उसके पिता चपरासी हुआ करते थे। जूली ने बिहार न्यायिक सेवा परीक्षा पास की। तंगहाली के बावजूद बेटी को जज बनते देखने के पिता के सपने को जूली ने हर पल जिया और आज उस ख्वाब को पूरा कर दिखाया। इस हफ्ते परीक्षा का नतीजा सामने आने के बाद से जूली की कामयाबी पर पूरा परिवार खुशियां मना रहा है। मगर इस खुशी की घड़ी में जूली को अपने पिता की कमी खल रही है। क्योंकि हॉस्पिटल में भर्ती होने की वजह से उनके पिता को अपनी बेटी की कामयाबी का पता ही नहीं है।

जूली के पिता को भागलपुर के जवाहरलाल नेहरु मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। जहां गुरुवार को उनकी तबीयत और बिगड़ गई। उनकी सेहत को देखते हुए डॉक्टरों ने परिवारवालों को उनसे बात करने तक के लिए मना कर दिया। लेकिन जूली और उसके परिवारवालों को उम्मीद है कि जल्द ही उसके पिता जगदीश शाह ठीक हो जाएंगे और बेटी की जज बनने की खबर सुनते ही खुशी से झूम उठेंगे।

पिता की कोर्ट में ही जज बनेंगी जूली
जूली के पिता जगदीश शाह भागलपुर के सिविल कोर्ट में बतौर चपरासी काम कर चुके हैं और ये बड़ी तारीफ की बात है कि अब उनकी बेटी जूली भी इसी कोर्ट में जज बनकर काम करेंगी।

सरकारी स्कूल से अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद जूली ने 2011 में टीएनबी लॉ कॉलेज से कानून की पढ़ाई की। इस दौरान साल 2009 में जूली की शादी हो गई। मगर इसके बाद भी अपने पिता के सपने को पूरा करने की जिद कम नहीं हुई और जूली ने पहली बार में ही 29वीं बिहार ज्यूडिशियल सर्विस एक्जामिनेशन पास कर ली।

इस कामयाबी पर जूली काफी खुश हैं, मगर पिता का खराब सेहत को लेकर थोड़ी मायूस भी, क्योंकि वो अब तक अपने उस पिता को ये खबर नहीं सुना पाईं हैं, जिसका सपना वो सालों से देख रहे थे।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week