8 प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन घोटाला प्रमाणित | MP MEDICAL ADMISSION SCAM

Monday, November 13, 2017

भोपाल। मध्यप्रदेश के 8 प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन घोटाला प्रमाणित हो गया है। मेडीकल यूनिवर्सिटी ने अपनी जांच में कुल 179 सीटों पर फर्जीवाड़ा कर एडमिशन दिए जाने की पुष्टि की है। बता दें कि मध्यप्रदेश में इस तरह के गोरखधंधे में 1 सीट के लिए 1 करोड़ रुपए तक लिए जाने का खुलासा व्यापमं घोटाले के समय हुआ था। इस प्रकार यह कुल 179 करोड़ का घोटाला है। गौर करने वाली बात यह भी है कि इन कॉलेजों ने 179 ऐसे छात्रों को एडमिशन दे दिया जो डॉक्टर बनने के लायक ही नहीं थे। 

मामले की जांच कर विश्वविद्यालय के कुलपति डाॅ आरएस शर्मा ने सभी 179 दाखिलों के रिजल्ट रोकने और डीएमई को इनके दाखिले निरस्त करने की अनुशंसा की है। मामला एनआरआई कोटे में एडमिशन का है। इस कोटे में उन उम्मीदवारों को एडमिशन मिलता है जो अप्रवासी भारतीय हों। जांच में पाया गया कि एक भी स्टूडेंट एनआरआई नहीं था। बता दें कि ये सभी वो मेडिकल कॉलेज हैं जिनके पास या तो डायरेक्टर पॉलिटिकल कनेक्शन है या फिर किसी पॉलिटिकल पॉवर का संरक्षण हासिल है। 

इन कॉलेजों में हुआ ए​डमिशन में फर्जीवाड़ा
भोपाल के एडवांस इंस्टीटयूट आॅफ मेडीकल साइंस में 22 एनआरआई सीट, 
देवास के अमलताल मेडीकल काॅलेज में 21 एनआरआई सीट, 
चिरायु मेडीकल काॅलेज भोपाल की 23 एनआरआई सीट,
माॅर्डन इंस्टीटयूट आॅफ मेडीकल साइंस काॅलेज की 23 एनआरआई सीट, 
आरडी गाॅर्डी मेडीकल काॅलेज उज्जैन की 19 एनआरआई सीट, 
साक्षी मेडीकल काॅलेज गुना की 25 एनआरआई सीट, 
श्री अरविंदो मेडीकल काॅलेज इंदौर की 23 एनआरआई सीट 
और सुखसागर मेडीकल काॅलेज जबलपुर की 23 एनआरआई सीट्स शामिल हैं.

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week