भोपाल गैंगरेप: 3 घंटे में 6 बार किया रेप, बीच में चाय भी पी

Sunday, November 5, 2017

भोपाल। मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह सरकार जब स्थापना दिवस का जश्न मनाने की तैयारी कर रही थी तभी भोपाल में एक छात्रा गैंगरेप का शिकार हो रही थी। लगातार 3 घंटे तक चले इस दर्दनाक घटनाक्रम के दौरान उसका 6 बार रेप किया गया। पहले 2 बदमाशों ने गैंगरेप किया, फिर 2 अन्य साथियों को बुलाया और गैंगरेप किया। फिर सभी चाय पीने लगे, उसके बाद फिर गैंगरेप किया। बदमाशों ने लड़की के कपड़े फाड़कर नाले में फैंक दिए थे। वो गिड़गिड़ा रही थी परंतु किसी पर कोई असर नहीं हुआ। उन्होंने हत्या करने के लिए गला दबाया परंतु सभी बदमाश सहमत नहीं हुए और उसे बेहोश छोड़कर चले गए। 

रेप कांड की पीड़ित लड़की ने पहली बार मीडिया के सामने आकर कई खुलासे किए हैं। उसने कहा है कि अगर वह छूट गए तो बाहर आकर फिर से रेप करेंगे। लड़की ने पुलिस की रवैये पर गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि पुलिस का व्यवहार सबसे ज्यादा खराब था। अगर पुलिस ने सहयोग किया होता तो चारो आरोपी उसी दिन पकड़ लिए जाते। 

छात्रा ने अपने बयान में कहा कि, 31 अक्टूबर को शाम 7 बजे मैं एमपी नगर स्थित अपनी कोचिंग से रेलवे पटरी होते हुए हबीबगंज रेलवे स्टेशन जा रही थी। तभी आउटर सिग्नल के पास खड़ा एक लड़का मेरे साथ-साथ चलने लगा। मैं पटरियों की बीच से चलते हुए आगे बढ़ने लगी तो वो अचानक पटरियों के बीच में आकर मेरे सामने खड़ा हो गया, मेरा हाथ पकड़ लिया मैंने अपना हाथ छुड़ाने के लिए उसे एक लात मारी तो वह मेरे साथ पटरियों के बीच में ही मारपीट करने लगा।

पुलिस के दिए बयान में लड़की ने बताया है कि रेप से पहले दो आरोपियों ने उसके साथ पहले मारपीट की थी। उसे नाले में गिरा दिया। उसके कपड़े फट गए। बदमाशों ने कपड़े निकालकर नाले में फैंक दिए। इसके बाद हाथ-पैर बांधकर रेप किया। रेप के बाद जब लड़की ने हाथ जोड़कर कपड़े देने कहा तो उनमें से एक कहीं चला गया। लेकिन, जब वो लौटकर आया तो उसके साथ दो और लोग थे। फिर उन दो लोगों ने भी रेप किया। इसके बाद ये मुझे वहीं बंधा छोड़कर चाय और गुटखा खाने चले गए थे। लौटकर आने के बाद फिर रेप किया। 3 घंटे में 4 आरोपियों ने 6 बार दुष्कर्म किया।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week