RSS के कई संगठन मोदी के खिलाफ, 29 को होगा विशाल प्रदर्शन

Tuesday, October 10, 2017

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रचारक रहे, अब उसी आरएसएस के कई संगठन मोदी सरकार का खुला विरोध करने उतर आए हैं। इन संगठनों में एक भाजपा का किसान मोर्चा भी है। सभी संगठनों ने एकजुट होकर 29 अक्टूबर को दिल्ली के रामलीला मैदान में सरकार की नीतियों के खिलाफ विशाल प्रदर्शन का भी एलान किया गया है। प्रदर्शन कार्यक्रम का नेतृत्व स्वदेशी जागरण मंच करेगा। इस प्रदर्शन में व्यापारी और किसान शामिल होंगे। 

स्वदेशी जागरण मंच का कहना है कि मोदी सरकार अपने पुराने वादों से मुकर गई है और जिन चीजों का उत्पादन देश में हो सकता है, उसका भी विदेशों से आयात कर रही है। इसकी वजह से देश की अर्थव्यवस्था चरमराने की नौबत आ गई है। किसानों और व्यापारियों की हालत तो और भी ज्यादा खराब हो गई है। इसलिए सरकार को जगाने और लोगों को स्वदेशी उपयोग के प्रति जागरूक करने के लिए हम दर्जनों संगठनों के साथ विशाल रैली करने जा रहे हैं।

प्रेसवार्ता में किसान महापंचायत के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामपाल जाट ने कहा कि सरकार अपनी नीतियों का भी पालन नहीं कर रही है। उसकी कथनी और करनी में बड़ा फर्क है। हालात यहां तक खराब हैं कि एमएसपी से भी कम दामों पर किसानों के उत्पाद खरीदे जा रहे हैं। सरकार पूंजीवादियों और पैसे वालों के समर्थन में काम कर रही है। 

भाजपा किसान मोर्चा भी खुलकर विरोध में आ गया है। भाजपा राष्ट्रीय किसान मोर्चा के अध्यक्ष नरेश सिरोही ने कहा कि हम भाजपा नेता के साथ किसानों के प्रतिनिधि भी हैं और जहां भी उन्हें दिक्कतें आएंगी, हम आवाज उठाएंगे। चाहे किसी भी पार्टी की सरकार हो।

भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) के राष्ट्रीय महामंत्री युद्धवीर सिंह ने कहा कि देश में किसान सबसे कमजोर कड़ी हैं। किसानों के उत्पाद पर खरीद सुनिश्चित हो। आयात के नाम पर किसानों का नुकसान हो रहा है। जिन चीजों का उत्पादन अपने देश में हो रहा है, सरकार उसका भी आयात कर रही है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं